By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

प्राचीन मंदिर की महत्ता को समझने की आवश्यकता है : राज्यपाल

;

- sponsored -

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि भैरव धाम को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करना हम सबका कर्तव्य है। राज्य सरकार और जिला प्रशासन इस दिशा में काम कर रही है।

-sponsored-

-sponsored-

प्राचीन मंदिर की महत्ता को समझने की आवश्यकता है : राज्यपाल

सिटी पोस्ट लाइव, बोकारो: राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि भैरव धाम को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करना हम सबका कर्तव्य है। राज्य सरकार और जिला प्रशासन इस दिशा में काम कर रही है। बोकारो के चंदनकियारी में आयोजित राजकीय भैरव महोत्सव के उद्घाटन कार्यक्रम के दौरान उन्होंने विरासत नामक एक पुस्तक का भी विमोचन किया। इससे पूर्व उन्होंने प्राचीन भैरव मंदिर में पूजा अर्चना की। राज्यपाल ने कहा की यह शिव मंदिर हमारी पौराणिक संस्कृति की पहचान है। इसका संरक्षण और विकास हम सब का कर्तव्य है । महामहिम ने कहा कि हम सभी को इस प्राचीन मंदिर की महत्ता को समझने की आवश्यकता है। दो दिनों तक चलने वाले भैरव महोत्सव में झारखंड की संस्कृति की झलक के साथ राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त ममता शर्मा और दिलेर मेहंदी के गानों का भी लोग आनंद उठा सकेंगे। इसका धार्मिक महत्व है। यहां के पानी से लोग रोगमुक्त हो जाते हैं। महामहिम ने आगे कहा कि भैरव धाम को  पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करना हम सबका कर्तव्य है। राज्य सरकार और जिला प्रशासन इस दिशा में काम कर रहा है। चंदनकियारी के लोगों का भी कर्तव्य है इस धाम को सुरक्षित रखने की। 2 दिनों तक चलने वाले भैरव महोत्सव में झारखंड की संस्कृति की झलक लोगों को देखने को मिलेगी ।इसके अलावा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त ममता शर्मा और दिलेर मेहंदी के गानों का भी लोग लुप्त ले सकेंगे।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.