City Post Live
NEWS 24x7

झारखंड में 10 लाख के इनामी सहित नौ नक्सली गिरफ्तार, हथियारों का जखीरा बरामद

-sponsored-

-sponsored-

- Sponsored -

रांची: झारखंड में नक्सल विरोधी अभियान डबल बुल के तहत नौ नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें 10 लाख का इनामी जोनल कमांडर बलराम उरांव, सब जोनल कमांडर दसरथ सिंह खेरवार, एरिया कमांडर मारकुश नागेसिया, शैलेश्वर उरांव, मुकेश कोरवा, विरेन कोरवा, शेलेन्द्र नागेसिया, संजय नागेसिया और शिला खेरवार शामिल हैं।

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता सह आईजी अभियान अमोल वी होमकर ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि नक्सलियों के खिलाफ आठ फरवरी से ऑपरेशन डबल बुल के नाम से अंतर जिला संयुक्त वृहद अभियान चलाया जा रहा था। सोमवार तक चले इस ऑपरेशन के दौरान पुलिस की दस बार नक्सलियों के साथ भीषण मुठभेड़ हुई। आधुनिक हथियारों के साथ इस अभियान में जुटे सुरक्षा बलों का हौसला कम नहीं हुआ है और लगातार सर्च अभियान जारी रखा गया है।

उन्होंने बताया कि 15 दिनों पूर्व 15 लाख के इनामी नक्सली रविंद्र गंझू के दस्ते की लोहरदगा जिले के बुलबुल जंगल में भ्रमण करने की सूचना पर सर्च अभियान शुरू किया गया था। इसके बाद से निरंतर अभियान जारी है। इस अभियान में जहां तीन जवान आइइडी की चपेट में आकर घायल हुए। इसके बावजूद भी सुरक्षाबलों का हौसला कम नहीं हुआ। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में एक नक्सली को मार गिराने में सफलता पाई है। इस अभियान में सीआरपीएफ कमांडेंट प्रभात कुमार और एसपी अभियान की अगुवाई में अभियान चलाते हुए नक्सलियों पर नजर रखी जा रही है।

होमकर ने बताया कि अभियान में लोहरदगा एवं लातेहार जिला बल, कोबरा 203 झारखंड जगुआर और सीआरपीएफ शामिल थे। अभियान के दौरान हथियारों का जखीरा बरामद किया गया है । इनमें एक इंसास रेगुलर रायफल, एक 315 बोर का रायफल, एक अमेरिकन ऑटोमेटिक रायफल, एक मोडिफाइड नाइन एमएम, एक पिस्टल, 1678 जिंदा गोली, 13 एसएलआर का मैगजीन, दो इंसास एलएमजी मैगजीन, दो इंसास रायफल का मैगजीन, दो मैगजीन, एक हैण्ड ग्रेनेड, 21 एमुनेशन पाउच, चार वायरलेस सेट, सात कार्टिज फिलर, 30 मीटर कोर्डक्स वायर, 100 मीटर फ्लेक्सिबल वायर, 10 मीटर वायर, 16 आईईडी, 40 पीस इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, 100 ग्राम गन पाउडर, 116 पीस नन इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, 40 पीस कॉमर्शियल डेटोनेटर, 50 पीस बैट्री क्लीप, एक मल्टीमीटर, एक टेस्टर, 12 सेफ्टी फ्यूज, सात लाईटर, एक निकोन कैमरा, 10 मीटर फलेश कैचिंग धागा, एक टाइमर घड़ी, एक रिमोट लॉक, 30 फीट सोल्डिंग तार, 35 पीस आइइडी, तीन लाख सताइस हजार एक सौ पच्चास रुपये नकदी, नक्सली साहित्य, पर्चा एवं केन्द्रीय कमेटि से प्रकाशित नक्सली किताब, शॉल, तौलिया, बेडशीट, अन्तः वस्त्र, काला कपड़ा, पॉलीथिन शीट, चटाई, जग, प्लेट, कलछुल, पतीला, बोतल, ग्लास, दर्पण, साबुन सहित अन्य सामान बरामद किया गया है। अभियान के दौरान बरामद आइइडी को झारखंड जगुआर के बीडीडीएस टीम ने डिफ्यूज कर दिया है।

ग्रामीणों के बीच छुपे थे नक्सली

आईजी अभियान ने बताया कि जमीन से लेकर आसमान तक नक्सलियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान में निगरानी रखी जा रही थी। आईजी ने बताया कि जमीनी स्तर से घेराबंदी कर दी गयी ताकि नक्सली कहीं भाग न सकें। इस वजह से रोजमर्रा की वस्तुएं नहीं मिल पा रही थीं। खाने-पीने के सामान और पैसे की सप्लाई चेन टूटने लगी। इसके बाद नक्सली बुलबुल के आसपास ग्रामीणों को डरा-धमका कर अलग-अलग गांव में छुप गये, ताकि पुलिस को पता न चल सके। पुलिस को जब आशंका हुई तो कई संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। इसी क्रम में नौ नक्सली पकड़े गये।

आईजी अभियान ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी का कुख्यात 15 लाख का इनामी नक्सली रविंद्र गंझू, जोनल कमांडर छोटू खेरवार, बलराम उरांव, रंथू उरांव तथा 30 से 40 दस्ता सदस्यों के साथ लोहरदगा एवं लातेहार जिले के सीमावर्ती गांव बुलबुल, सहेदा टोली और नारायणपुर के आसपास के जंगल में सुरक्षाबलों के विरुद्ध एवं बॉक्साइट माईन्स में किसी गंभीर घटना को अंजाम देने के उद्देश्य से इकट्ठा हैं। इसी सूचना पर सर्च अभियान शुरू किया गया था। जो अब भी जारी है।

गिरफ्तार नक्सलियों पर दर्ज हैं 111 मामले

रविद्र गंझू का दस्ता धरधरिया में आइईडी ब्लास्ट कर 11 सुरक्षाकर्मियों की हत्या में शामिल रहा है। इसके अलावे लुकईया मोड़ में गश्ती दल पर हमला कर चार पुलिसकर्मियों की हत्या में भी शामिल रहा है। पाखर माईन्स में 12 वाहनों को आग लगाने का भी आरोप है। हाल के दिनों में कुंजाम माइन्स में हमला कर 29 वाहनों को फूंकने दिया था। गिरफ्तार आरोपित जोनल कमांडर लातेहार जिले के रेहलदाग निवासी बलराम उरांव पर विभिन्न थानों में 82 मामले दर्ज हैं। झारखंड सरकार की ओर से 10 लाख रुपये का इनाम घोषित था।

सब जोनल कमांडर लातेहार जिले के हेरहंज थाना क्षेत्र के डोरी निवासी दशरथ सिंह खेरवार पर सात मामले दर्ज हैं। एरिया कमांडर मारकुश नगेसिया पर दस मामले दर्ज हैं। मारकुश लोहरदगा जिले के पेशरार थाना क्षेत्र के इचुवाटांड़ का रहने वाला है। सेल सदस्य शैलेश्वर उरांव पर दो मामले दर्ज हैं। मुकेश कोरवा पर दो मामले दर्ज हैं। विरेन कोरवा पर दो मामले दर्ज हैं। शैलेद्र नगेसिया पर दो मामले दर्ज हैं। संजय नगेसिया पर दो मामले दर्ज हैं। शीला खेरवार पर दो मामले दर्ज हैं।

-sponsored-

- Sponsored -

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

- Sponsored -

Comments are closed.