By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

नालंदा : देश के विभिन्न क्षेत्रों से आए वन अधिकारीयों ने लिया ऐतिहासिक स्थलों की जानकारी

;

- sponsored -

देश के विभिन्न क्षेत्रों से आये  भारतीय वन सेवा के 15 अधिकारी नालंदा के ऐतिहासिक स्थलों के बारे में जानकारी लेने नालंदा पहुंचे. जहां इन अधिकारियों ने नालंदा के प्राचीन विश्वविधलय के भग्नावशेषों का अवलोकन करने के बाद बिहार के इतिहास को गौरवशाली और समृद्ध बताया.

-sponsored-

-sponsored-

नालंदा : देश के विभिन्न क्षेत्रों से आए वन अधिकारीयों ने लिया ऐतिहासिक स्थलों की जानकारी

सिटी पोस्ट लाइव : देश के विभिन्न क्षेत्रों से आये  भारतीय वन सेवा के 15 अधिकारी नालंदा के ऐतिहासिक स्थलों के बारे में जानकारी लेने नालंदा पहुंचे. जहां इन अधिकारियों ने नालंदा के प्राचीन विश्वविधलय के भग्नावशेषों का अवलोकन करने के बाद बिहार के इतिहास को गौरवशाली और समृद्ध बताया. दरअसल ये  सभी वन सेवा के अधिकारी पटना में आयोजित आर्ट में दिलचस्पी, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की सहभागिता पर व्याख्यान में भाग लेने पटना पहुंचे थे.  उसके बाद इन अधिकारियों को नालंदा राजगीर और पावापुरी के ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण कराया गया. इस मौके पर टीम लीडर  विभाग ने इसे काफी सजाकर रखा है.  उन्होंने बताया कि आज हम लोग नालंदा का भ्रमण कर रहे हैं यहां हम देखने आए हैं की प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया टूरिज्म से कैसे जुड़े हैं और इसका कैसे प्रचार-प्रसार करते हैं.

उन्होंने कहा कि हम यह भी जानने आए हैं कि स्थानीय स्तर के ऑफिसर और स्थानीय लोग विदेशी पर्यटकों के साथ किस प्रकार आचार व्यवहार करते हैं और इसका प्रचार प्रसार किस प्रकार किया जाता है. वही मद्य प्रदेश से आयी आईएफएस अधिकारी अंजलि मिश्रा ने बताया कि  यहां आकर उन्हें काफी खुशी मिली है. पटना म्यूजियम और नालंदा घूमने के बाद उन्हें लग रहा है कि बिहार का इतिहास काफी गौरवशाली रहा था. इसी प्रकार  उत्तर प्रदेश से आए आईएफएस अधिकारी समीर कुमार ने कहा कि यह स्थल बहुत ही सुंदर है बिहार की गौरवशाली इतिहास को दर्शाता है. टीम के अधिकारियों ने कहा कि यूनेस्को ने इसे विश्वधरोहर की सूची में शामिल कर उचित सम्मान दिया है. यह आज भी जीवंत प्रतित होता है. पर्यटन की संभावनाओं को लेकर हमलोगों का यह दौरा हुआ है. इतना बड़ा परिसर होने के बाद भी पुरातत्व विभाग ने इसे काफी आकर्षक बना  रखा है.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

नालंदा से प्रणय राज की रिपोर्ट

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.