By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

मेला स्पेशल ट्रेन के नहीं चलने से यात्रियों की मुश्किलें बढ़ीं

;

- sponsored -

हावड़ा-दिल्ली मुख्य रेलमार्ग पर मेला स्पेशल ट्रेन नहीं चलने से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं आसनसोल मंडल रेल के मॉडल रेलवे स्टेशन जसीडीह को झारखंड की सांस्कृतिक राजधानी देवघर का प्रवेश द्वार माना जाता है।

-sponsored-

-sponsored-

मेला स्पेशल ट्रेन के नहीं चलने से यात्रियों की मुश्किलें बढ़ीं

सिटी पोस्ट लाइव, देवघर: हावड़ा-दिल्ली मुख्य रेलमार्ग पर मेला स्पेशल ट्रेन नहीं चलने से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं आसनसोल मंडल रेल के मॉडल रेलवे स्टेशन जसीडीह को झारखंड की सांस्कृतिक राजधानी देवघर का प्रवेश द्वार माना जाता है। स्टेशन से 76 ट्रेनों का परिचालन भी होता है। इतना ही नहीं लगभग एक सौ किलोमीटर से ज्यादा दूरी से यात्री अन्य प्रांतों के लिए यात्रा करने के लिए स्टेशन पर आते हैं। स्टेशन पर सारी सुविधा यात्रियों के लिए उपलब्ध है, लेकिन मेला स्पेशल ट्रेन एवं ट्रेनों के ठहराव के लिए अधिक समय की जरूरत होती है। कम समय ठहराव होने के कारण यात्रियों को चढ़ने उतरने में काफी परेशानी हो रही है। रेलकर्मियों ने भी समय के अभाव को दूर करने के लिए आला अधिकारी से शिकायत की है। सबसे अधिक परेशानी लंबी दूरी चलने वाली ट्रेनों से यात्रा करने वाले यात्रियों को ट्रेन छूटने पर टिकट रद्द कराना पड़ता है।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.