By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पेट्रोलियम मंत्री 23 को करेंगे रांची शहरी गैस वितरण परियोजना का शुभारंभ

;

- sponsored -

प्रधानमंत्री उर्जा गंगा योजना के तहत रांची शहरी गैस वितरण परियोजना का शुभारंभ 23 अगस्त को पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान करेंगे। धुर्वा स्थित सेक्टर 4 के एचईसी मैदान में इसका शुभारंभ होगा।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

पेट्रोलियम मंत्री 23 को करेंगे रांची शहरी गैस वितरण परियोजना का शुभारंभ

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: प्रधानमंत्री उर्जा गंगा योजना के तहत रांची शहरी गैस वितरण परियोजना का शुभारंभ 23 अगस्त को पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान करेंगे। धुर्वा स्थित सेक्टर 4 के एचईसी मैदान में इसका शुभारंभ होगा। मौके पर मुख्यमंत्री रघुवर दास, जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा उपस्थित रहेंगे। गेल के कार्यकारी निदेशक (पूर्वी क्षेत्रकेबी सिंह ने गुरूवार को प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दीउन्होंने बताया कि सीएनजी स्टेशनों का उद्घाटन मधुवन बिहार और खुकरी में किया जायेगा। पाइप्ड नेचुरल गैस (पीएनजी) आपूर्ति के लिए डी कम्प्रेशन यूनिट का उद्घाटन मेकॉन कॉलोनी में किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उर्जा गंगा के तहत रांची में संपीडित गैस (सीएनजी) की आपूर्ति तथा सीएनजी चलित वाहनों का भी उद्घाटन होगा। आगामी वर्षों में गेल द्वारा 75000 से अधिक वाहनों को आपूर्ति करने के लिए 11 सीएनजी स्टेशन कमीशन किये जायेंगेउन्होंने कहा कि शुरूआत में कैसकेड नामक विशेष कंटेनर्स में पटना से सडक मार्ग द्वारा गैस रांची में पहुंचायी जायेगी इसके बाद प्राकतिक गैस की आपूर्ति जगदीशपुर, हल्दिया और बोकारो धामरा प्राकतिक गैस पाइपलाइन (जेएचबीडीपीएलके जरिये की जायेगी। जेएचबीडीपीएल प्रधानमंत्री उर्जा गंगा नाम से जाना जाता है। उन्होंने बताया कि यह पाइपलाइन अभी निर्माणाधीन है और इसके 2020 तक पूरा होने की उम्मीद हैउन्होंने बताया कि तीन ऑटो निर्माता मैसर्स पिआजियो, बजाज और टीवीएस ने सीएनजी ऑटो वाहनों की अपूर्ति के लिए सहमति दी है। सीएनजी की आपूर्ति का प्रारंभ प्रधानमंत्री के गैस आधारित अर्थव्यवस्था को विकसित करने और पूर्वी भारत को देश के प्राकतिक गैस ग्रिड से जोडने के सपने को पूरा करने में एक महत्वपूर्ण कदम है, जो प्रधानमंत्री उर्जा गंगा के माध्यम से छह राज्यों उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और असम से होकर गुजरेगी। इस परियोजना की 551 किमी की पाइपलाइन झारखंड में बिछायी जायेगी। इस पाइपलाइन से पूर्वी भारत का औद्योगिक विकास होगाउन्होंने कहा कि आगामी वर्षों में गेल द्वारा 1.25 लाख से अधिक वाहनों में सीएनजी आपूर्ति और 10.46 लाख घरों में पीएनजी की आपूर्ति के लिए झारखंड (रांची और जमशेदपुरमें 22 सीएनजी स्टेशन कमीशन किये जायेंगे रांची और जमशेदपुर में सीजीडी परियोजनाओं को प्रधानमंत्री उर्जा गंगा पाइपलाइन के समानांतर लिया जा रहा है। झारखंड में 4366 करोड रूपये के अनुमानित निवेश से प्राकतिक गैस पाइपलाइन का निर्माण किया जायेगा तथा इसकी लंबाई लगभग 551 किमी होगी, जिसमें 12 जिले चतरा, गिरिडीह, हजारीबाग, बोकारो, रामगढ, धनबाद, सरायकेला, रांची, खूंटी, गुमला, सिमडेगा और पूर्वी सिंहभूम शामिल हैं। उन्होंने बताया कि रांची और जमशेदुपर सीजीडी परियोजना की लागत 1500 करोड रूपये होगी, जिसमें से 450 करोड रूपये अगले तीन से पांच वर्षों में खर्च किये जायेंगे। प्रेस कांफ्रेंस में मेकन के प्रोजेक्ट इंचार्ज एमपी महतो, एचआर पवन त्रिपाठी मौजूद थे

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.