By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

तालाब सुंदरीकरण के नाम पर करोड़ों की हुई है निर्माण में हेरा-फेरी

- sponsored -

0

पलामू जिले के हुसैनाबाद नगर पंचायत के अधिन हुसैनाबाद प्रखंड कार्यालय के सामने पंच मुखी मंदिर स्थित गईंता पोखरा तालाब आज बूंद बूंद पानी को ले तरस रहा है। काफी लम्बा चौड़ा परिधि में बना ताालाब आज बच्चों को क्रिकेट खेलने का मैदान बन गया है।

Below Featured Image

-sponsored-

तालाब सुंदरीकरण के नाम पर करोड़ों की हुई है निर्माण में हेरा-फेरी

सिटी पोस्ट लाइव, मेदिनीनगर: पलामू जिले के  हुसैनाबाद नगर पंचायत के अधिन हुसैनाबाद प्रखंड कार्यालय के सामने पंच मुखी मंदिर स्थित गईंता पोखरा तालाब आज बूंद बूंद पानी को ले तरस रहा है। काफी लम्बा चौड़ा परिधि में बना ताालाब आज बच्चों को क्रिकेट खेलने का मैदान बन गया है। गईंता पोखरा ताालाब में एक बूंद पानी नहीं रहने के कारण आस पास के भू-भागों में जल स्तर काफी गिर गया है। गईंत पोखरा ताालाब निर्माण के लिये कई बार राज्य सरकार के साथ -साथ नगर पंचायत व विधायक कोटे की राशि का उपयोग कर तलाब का सुंदरीकरण कराया गया था। उक्त तलाब सुंदरीकरण के नाम पर करोड़ों रुपये खर्च किये गये, जिसमें संवेदक मालामाल हुये, किंतु ताालाब में आज के दिनों में एक बूंद पानी मयसर नहीं है। तालाब के बगल में विशाल मंदिर के साथ-साथ करोड़ों रुपये खर्च कर पार्क का निर्माण भी कराया गया। वह भी बेकार साबित हो रहा है। तालाब में अगर पानी का व्यवस्था किया जाता तो उक्त तलाब से आस-पास के जल स्तर भी सूधर जाती। अगर नगर पंचायत क्षेत्र के अधिकारी व नगर पंचायत प्रतिनिधि उक्त तालाब में पानी भरने का व्यवस्था करते या आस पास डीप बोरिंग कर पानी भरते तो आस-पास का जल स्तर स्वतः ठीक हो जाता। उक्त पोखरा का निर्माण में पूर्व विधायक संजय कुमार सिंह यादव के विधायक कोटे की राशि को भी लगाया गया है। गईंता पोखरा तालाब का परिधि 25 से 30 एकड़ भूमि में फैला है। जिसे किसी जमीनदार द्वारा उक्त भूमि का दान देकर तालाब का निर्माण कराया गया है। उक्त तलाब हुसैनाबाद के पुरंदरबिगहा स्थित वार्ड एक में है। जिस पर न तो अधिकारियों की नजर है न ही कोई जनप्रतिनिधि का। इस संबंध में आस पास के ग्रामीण बतातें हैं कि बरसात के दिनों में उक्त तालाब में काफी पानी का जमाव होता है। किंतु इसी पानी से आस पास के लोग अपने खेतों का पटवन करते हैं। जिससे आस पास का जीवकोपार्जन में सहयोग होता है। ग्रामीण बताते हैं कि उक्त तालाब के निर्माण व सुंदरीकरण के नाम पर करोड़ों रुपये का हेरा-फेरी किया गया है। अगर तालाब में पानी रोकने का व्यवस्था कर दिया जाता तो जल स्तर में काफी सुधार हो सकता था। इधर हुसैनाबाद के अनुमंडल पदाधिकारी कुंदन कुमार ने बताया कि नगर पंचायत बोर्ड की बैठक कराकर गईंता पोखरा ताालाब में पानी रोकने की व्यवस्था के साथ साथ और गहरीकरण पर विचार विमर्ष किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि नगर अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित वार्ड पार्षदों की अगर सहमती बनी तो इसे अविलंब सुंदर व स्वचछ बनाकर गईंता पोखरा तालाब में पानी रोकने की व्यवस्था की जा सकती है। उन्होंने कहा कि बरसात के दिनों में गईंता पोखरा तालाब के चारों तरफ पिड़ पर वृक्षारोपण किया जाये तो तालाब की सुंदरीकरण हो सकती है। उन्होंने कहा कि उक्त तालाब काफी लम्बा चौड़ा परिधि अवस्थित है। जो हुसैनाबाद का एक धरोहर के रुप में जाना जायेगा। उन्होंने कहा कि तालाब केे किनारे जो पंच सरोवर मंदिर का निर्माण हुआ है वह काफी धार्मिक है। जहां छठ के दिनों में व्रतधारियों को सहुलियत प्रदान करता है।

-sponsered-

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

-sponsored-

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More