By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

प्रधानमंत्री 12 सितंबर को राज्य में 14 एकलव्य विद्यालयों की रखेंगे आधारशिला

आदिवासी बहुल क्षेत्र में कौशल केंद्र, आईटीआई, नर्सिंग कॉलेज की है योजना

Above Post Content

- sponsored -

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि आदिवासी बहुल क्षेत्र का सर्वांगीण विकास और लोगों को रोजगार व स्वरोजगार प्रदान करना सरकार की प्राथमिकताओं में है।

Below Featured Image

-sponsored-

प्रधानमंत्री 12 सितंबर को राज्य में 14 एकलव्य विद्यालयों की रखेंगे आधारशिला
सिटी पोस्ट लाइव, गुमला/रांची: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि आदिवासी बहुल क्षेत्र का सर्वांगीण विकास और लोगों को रोजगार व स्वरोजगार प्रदान करना सरकार की प्राथमिकताओं में है। ऐसे क्षेत्रों में आईटीआई, नर्सिंग कॉलेज, कौशल विकास केंद्र, एकलव्य विद्यालय, नवोदय विद्यालय प्रारंभ करने की योजना है। आज ही गुमला में नर्सिंग कॉलेज का उद्घाटन हुआ है, जहां प्रशिक्षण के बाद शत-प्रतिशत रोजगार मिलेगा। मंगलवार को मुख्यमंत्री दास गुमला में आयोजित दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल स्तरीय उज्जवला दीदी सह अतिरिक्त रिफिल वितरण समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि झारखंड में 14 एकलव्य विद्यालयों के निर्माण कार्य का शिलान्यास करने खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रांची आ रहे हैं। वे इन विद्यालयों के साथ ही नवनिर्मित विधानसभा और साहिबगंज में बंदरगाह का उद्घाटन करेंगे। आज उज्जवला दीदी कार्यक्रम के माध्यम से गुमला में 322 करोड़ की योजनाओं व परिसंपत्तियों का लाभ यहां के वासियों को दिया गया। रघुवर दास ने कहा कि जिस प्रकार महिलाओं ने रानी मिस्त्री बनकर दुनिया को यह बतलाने का काम किया कि झारखंड की महिलाएं किसी भी क्षेत्र में किसी से कम नहीं और पूरे राज्य में शौचालय का निर्माण कर झारखंड को खुले में शौच से मुक्त कर दिया। ठीक उसी प्रकार उज्ज्वला दीदियां राज्य की महिलाओं को उज्ज्वला योजना से आच्छादित करेंगी। उन्हें दुर्घटना रहित एलपीजी के उपयोग की जानकारी देंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल, जंगल और जमीन केवल नारा नहीं, हमारी विरासत और अमानत है। जल, जंगल और जमीन का नारा देने वालों ने सबको गुमराह किया, हमने जल जंगल और जमीन को संरक्षित किया है। तभी तो 2014 से पूर्व राज्य का 29% क्षेत्र वनों से आच्छादित था। आज 2019 में 33% हो गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे राज्य के किसानों सहित गुमला के 90 हजार किसानों को मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत पहली किस्त दी जा चुकी है। दुर्गा पूजा से पहले दूसरी किस्त किसानों के खाते में पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। पूरे राज्य के 35 लाख किसानों में 3 हजार करोड़ रूपये वितरित किये जाएंगे।
Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

सरकार योजनाओं को धरातल पर उतार रही हैः दिनेश उरांव
विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव ने कहा कि राज्य सरकार योजनाओं को धरातल पर उतारने का कार्य कर रही है। उज्ज्वला योजना के तहत राज्य के लाभुकों को सिलेंडर के साथ रेगुलेटर, चूल्हा और अतिरिक्त रिफिल भी दिये जा रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि गुमला में भी प्रेस क्लब के गठन की स्वीकृति प्रदान करें।
4 लाख 84 हजार आवासों तक पहुंचेगा एलपीजी कनेक्शनः नीलकंठ सिंह मुंडा
ग्रामीण विकास व संसदीय कार्य मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा कि अगर झारखंड को विकसित राज्य बनाना है तो राज्य की महिलाओं का सशक्तिकरण बेहद जरूरी है। गुमला जिले में बने 4 लाख 84 हजार प्रधानमंत्री आवास तक हमें उज्जवला योजना का लाभ पहुंचाना है। इस अवसर पर लोहरदगा सांसद सुदर्शन भगत, विधायक शिवशंकर उरांव, विधायक सिमडेगा विमला प्रधान, खिजरी विधायक रामकुमार पाहन, राज्य 20 सूत्री के उपाध्यक्ष राकेश प्रसाद, उपयुक्त शशि रंजन, आरक्षी अधीक्षक अंजनी कुमार झा, जिला 20 सूत्री के अध्यक्ष, उपाध्याय, उज्ज्वला दीदियां व बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।
Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.