By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

होटल मैनेजमेंट की नौकरी छोड़ मो. शहरयार बने जिले में सबसे युवा पैक्स अध्यक्ष

अपने पिता के अधूरे काम को करेंगे पूरा

;

- sponsored -

एक तरफ जहाँ अब के समय मे राजनीति युवाओं को अपनी ओर खींच रही है बात चाहे पंचायत चुनाव की हो विधानसभा की या फिर अभी के वक्त में सहकारिता संबंधित होनेवाले चुनाव पैक्स।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : एक तरफ जहाँ अब के समय मे राजनीति युवाओं को अपनी ओर खींच रही है बात चाहे पंचायत चुनाव की हो विधानसभा की या फिर अभी के वक्त में सहकारिता संबंधित होनेवाले चुनाव पैक्स। उच्च शिक्षा,या फिर निजी सरकारी नौकरी नहीं कर जनता से अब युवा सीधे जुड़ना पसंद कर रहे हैं। जिसका नतीजा देखने को मिल रहा है जहां पटना जिले में हुए 2021 के पैक्स चुनाव में जिले में सबसे युवा अध्यक्ष पद पर मो.शहरयार बने है।

हम बात कर रहे हैं राजधानी पटना से सटे बिहटा प्रखंड के एक ऐसे हीं युवा पैक्स अध्यक्ष चुन कर जनता के बीच में आये है। मोहम्मद शहरयार नाम का यह युवा दौलतपुर सिमरी पंचायत से इसी महीने पैक्स चुनाव जीत कर आया है ।इसके पहले शहरयार ने हाजीपुर के गवर्मेंट कॉलेज से होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई की और राजस्थान के उदपुर में होटल ओबेरॉय में इंटर्नशिप किया लेकिन उनको यह रास नहीं आया ।और ट्रेनिंग के बाद मिलने वाली नौकरी को उन्होंने ने ठुकरा दिए और अपने गाँव चले आये।पिछले साल इनके पिताजी मो. सिराज उद्दीन का इंतकाल हो गया ,इसके पहले इनके पिता हीं यहां के अध्यक्ष हुआ करते थे ,यही नहीं इनके पिता दो दफे इस पंचायत से मुखिया एवं एक बार इनकी मां भी मुखिया रह चुकी है।वही पिता की मृत्यु के बाद इन्होंने अपने पिता के सपनो को पूरा करने की सोची और चुनाव लड़ा जिसमें जनता का भरपुर साथ मिला और जीत दर्ज किया।

अब ये कहते हैं कि इस साल उन्होंने किसानों से उनतीस सौ सतहत्तर क्विंटल धान खरीद कर एक रिकॉर्ड बनाया है पिछले साल सत्रह सौ क्विंटल धान खरीदी गई थी ,आनेवाले सालों में वो किसानों से गेहूं भी खरीदेंगे ।शाहरियर का मानना है कि किसान सरकार से लाभ ले बिचौलिए पर विश्वाश नहीं करे ,बिचौलिए सरकार से किसानों का पैसा मिलने में देरी से मिलने की बात कह लोगों को भरमाते हैं ।जिसमें वो सुधार लाएंगे अगले साल उनके पंचायत से एक भी किसान किसी भी व्यपारी को अपना फसल नहीं देंगे।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

मो शहरयार के इस संकल्प और जज्बे अगर सच होते हैं तो निश्चित रूप से युवाओं के लिये यह एक नजीर होंगे। वही जीत के बाद उनके परिवार और पंचायत के किसान साथ ही युवा वर्ग भी काफी खुश है युवा वर्ग भी मानते हैं कि आज के समय मे पढ़े लिखे युवाओं को जनता के बीच प्रतिनिधि बनकर जाना चाहिए ताकि युवा जनता का बढ़-चढ़कर काम करें ।वैसे मो. शहरयार का सपना है कि जनता कभी दुखी ना हो सरकार के तरफ से चलाया जा रहे तमाम योजनाओं जनता के बीच पहुंचे और उनका लाभ ले सके।

यही नतीजा है कि इनके पिता भी कई दशक तक मुखिया के साथ-साथ पैक्स अध्यक्ष भी रह चुके हैं इस बार भी चुनाव में मोहम्मद शहरयार ने अपने प्रतिद्वंद्वी को 135 वोट से हराकर जीत दर्ज की ।वैसे पंचायत में कुल पैक्स 687 मत है जिसमे 520 वोट परे थे जिसमें मो शहयार ने 266 मत पड़े थे।

पटना के बिहटा से निशांत कुमार की रिपोर्ट

;

-sponsored-

Comments are closed.