By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

डायन बिसाही के मामलों में त्वरित कार्रवाई हो : रमाकांत सिंह

जनसंवाद केंद्र में दर्ज 18 मामलों की समीक्षा

- sponsored -

0

राज्य सरकार के विशेष सचिव   रमाकांत सिंह ने सूचना भवन स्थित जनसंवाद की ‘साप्ताहिक समीक्षा’ के दौरान कहा कि डायन बिसाही जैसे अंधविश्वास से जुड़े आपराधिक मामलों पर रोक लगाने की दिशा में त्वरित कार्रवाई का आवश्यकता है जिससे समाज में फैली इस कुप्रथा पर लगाम लगाई जा सके।

Below Featured Image

-sponsored-

डायन बिसाही के मामलों में त्वरित कार्रवाई हो : रमाकांत सिंह

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: राज्य सरकार के विशेष सचिव रमाकांत सिंह ने सूचना भवन स्थित जनसंवाद की ‘साप्ताहिक समीक्षा’ के दौरान कहा कि डायन बिसाही जैसे अंधविश्वास से जुड़े आपराधिक मामलों पर रोक लगाने की दिशा में त्वरित कार्रवाई का आवश्यकता है जिससे समाज में फैली इस कुप्रथा पर लगाम लगाई जा सके। उन्होंने यह बात गिरिडीह जिले से जुड़ी एक शिकायत के आलोक में कही। गिरिडीह के बेंगाबाद थाना की एक महिला ने जनसंवाद में यह शिकायत दर्ज की है कि उनपर डायन का आरोप लगाकर उन्हें प्रताड़ित किया गया है. उक्त मामले में बेंगाबाद थाना में एफ़आईआर किए जाने के बावजूद अब तक किसी भी अभियुक्त की गिरफ़्तारी नहीं हुई है। समीक्षा में उपस्थित एआईजी टू डीजीपी शम्स तबरेज ने डीएसपी, गिरिडीह को यह निर्देश दिया कि मामले में तत्परता से कार्रवाई करते हुए घटना में संलिप्त सभी अभियुक्तों की जल्द से जल्द गिरफ्तार करें ताकि समाज में इस तरह के आपराधिक मामलों के खिलाफ एक कड़ा संदेश जाए।

पम्प की मरम्मत कर जलापूर्ति सुनिश्चित करें 
पूर्वी-सिंहभूम के पटमदा प्रखण्ड अंतर्गत इंद्राटांड़ गांव में सोलर पम्प वर्ष 2016 से खराब होने की शिकायत पर कार्यपालक अभियंता पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल, आदित्यपुर ने बताया कि वर्तमान में सोलर पम्प की मरम्मत करा दी गयी है और जलापूर्ति की जा रही है। विशेष सचिव ने जिला के नोडल अधिकारी से इसकी पुनः जांच कर रिपोर्ट की मांग की और कहा कि रिपोर्ट में कार्यपालक अभियंता की बात असत्य पाये जाने पर उनके खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करें। इस तरह की एक शिकायत में यह बताया गया है कि धनबाद के निरसा प्रखण्ड अंतर्गत खैरखियारी गांव में स्थित जलमीनार का मोटर अक्टूबर 2018 में जल गया था जिसकी मरम्मत अब तक नहीं कराई गई है। इसपर विशेष सचिव ने संबन्धित पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता को 15 दिनों के भीतर पम्प की मरम्मत कर जलापूर्ति शुरू कराने का आदेश दिया।

Also Read

-sponsored-

मानदेय का भुगतान त्वरित कराये 
गृह रक्षा वाहिनी, मेदनीनगर (सीजीएम आवास) में गार्ड के पद पर प्रतिनियुक्त पलामू के भगवान सिंह ने अप्रैल 2016 तथा माह अगस्त 2016 का मानदेय भुगतान नहीं किए जाने शिकायत दर्ज कराई है। इस बाबत पुछे जाने पर बताया गया कि जिला मुख्यालय से आवंटन उपलब्ध नहीं कराये जाने के कारण बकाया मानदेय का भुगतान नहीं किया जा सका है। इसपर गृह, करा एवं आपदा प्रबंधन विभाग के नोडल अधिकारी ने विशेष सचिव को आश्वासन दिया कि 8 दिनों के भीतर आवंटन उपलब्ध करा दिया जाएगा। पलामू जिले के ही गृह रक्षा वाहिनी के 300 अन्य कर्मियों ने भी यह शिकायत दर्ज की है कि उन्हें पांकी विधानसभा उपचुनाव के दौरान चुनाव कार्य में लगाया गया था। जिसके एवज में उन्हें अब तक मानदेय का भुगतान नहीं किया गया है। इस मामले की समीक्षा करते हुए रामकांत सिंह ने गृह, करा एवं आपदा प्रबंधन विभाग के नोडल अधिकारी को एक माह के भीतर सभी कर्मियों को उनके बकाया मानदेय का भुगतान सुनिश्चित कराने का आदेश दिया। लोहरदगा की सीमा देवी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, भण्डरा में आउटसोर्सिंग कंपनी राइडर सिक्योरिटी सर्विसेज के माध्यम से सफाईकर्मी के रूप में कार्य किया था। इन्हें अक्तूबर 2018 से अप्रैल 2019 तक का मानेदय भुगतान नहीं किया गया है। स्वस्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी ने बताया कि इस तरह के लंबित सभी मामलों की एक सूची की सभी जिले से मांग की गयी है एवं सूची प्राप्त होते ही भुगतान की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इसपर विशेष सचिव ने विभागीय अधिकारी को निर्देश दिया कि 15 दिनों के भीतर मामले का निष्पादन करें अथवा इसे अगले महीने मुख्यमंत्री की ‘’सीधी बात’’ में रखा जाएगा।

दो दिनों के भीतर जलापूर्ति शुरू कराने का निर्देश 
बोकारो के चंदनक्यारी प्रखण्ड अंतर्गत भोजुडीह गांव में भोजुडीह ग्रामीण जलापूर्ति योजना में तकनीकी खराबी के कारण वर्ष 2017 से जलापूर्ति बाधित होने की शिकायत पर जिला के नोडल अधिकारी ने एक से दो दिनों के भीतर जलापूर्ति शुरू कराने का आश्वासन दिया।

बीमा का भुगतान जल्द से जल्द हो 
साहिबगंज जिले के बिरजू लाल राय ने प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना के तहत इलाहाबाद बैंक की लखीपुर शाखा के जरिए बीमा कराया था। 6 अक्टूबर 2015 को सड़क दुर्घटना में उनकी मृत्यु के बाद  से उनके परिजन बीमा क्लेम के भुगतान के लिए दौड़ लगा रहे हैं, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इस संबंध में पुछे जाने पर जिला के नोडल पदाधिकारी बताया कि संबन्धित इलाहाबाद बैंक के मुख्यालय ने क्लेम का आवेदन यह कहकर अस्वीकृत कर दिया है कि आवेदन समय सीमा के भीतर नहीं दिया गया था। इसपर विशेष सचिव श्री रमाकांत सिंह ने बैंक के संबन्धित अधिकारी से संपर्क करने एवं बीमा की कानूनी बिन्दुओं की जांच करने का निर्देश दिया।

-sponsered-

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

-sponsored-

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More