By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

विवि में शैक्षणिक सत्र का नियमितीकरण 19वर्ष में पहली बार बड़ी उपलब्धि : राज्यपाल

;

- sponsored -

राज्यपाल-सह-झारखण्ड राज्य के विष्वविद्यालयों के कुलाधिपति  द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि उन्हें प्रसन्नता है कि सभी विश्वविद्यालयों द्वारा उनके निदेषानुसार ससमय परीक्षा परिणाम जारी कर दिया गया है एवं नामांकन कर लिया गया है अर्थात सत्र नियमितीकरण की दिशा में कार्य हो रहा है।

-sponsored-

-sponsored-

विवि में शैक्षणिक सत्र का नियमितीकरण 19वर्ष में पहली बार बड़ी उपलब्धि : राज्यपाल

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: राज्यपाल-सह-झारखण्ड राज्य के विष्वविद्यालयों के कुलाधिपति  द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि उन्हें प्रसन्नता है कि सभी विश्वविद्यालयों द्वारा उनके निदेषानुसार ससमय परीक्षा परिणाम जारी कर दिया गया है एवं नामांकन कर लिया गया है अर्थात सत्र नियमितीकरण की दिशा में कार्य हो रहा है। विदित हो कि झारखण्ड निर्माण से पिछले 19 वर्षों की अवधि में यह एक ऐतिहासिक व बड़ी उपलब्धि है। हालांकि शैक्षणिक सत्र के विलम्ब की यह सिलसिला बिहार राज्य से विरासत में मिला था। उन्होंने झारखण्ड लोक सेवा आयोग द्वारा प्रोन्नति की दिषा में तीव्रतापूर्वक कार्य करने हेतु बधाई देते हुए कहा कि अपेक्षा है कि शीघ्र ही प्रोन्नति संबंधी कार्य सम्पन्न करने के साथ बैकलॉग नियुक्ति का कार्य कर लिया जायेगा। राज्यपाल ने  निर्देश दिया कि आगामी सत्र से सभी विश्वविद्यालयों में चांसलर पोर्टल के माध्यम से नामांकन हो और परीक्षा परिणाम जारी हो। यह प्रत्येक विष्वविद्यालय-महाविद्यालय का नैक से षीघ्र ही मूल्यांकन कार्य हो और विष्वविद्यालय अच्छे ग्रेड प्राप्त करने की दिषा में तत्परता से कार्य करें। उन्होंने कहा कि विष्वविद्यालय में वाई-फाई सुविधायुक्त हो और इस दिषा में विष्वविद्यालय एनआइसी के साथ मिलकर तथ्य की जाँच कर लें। उन्होंने कहा कि जब तक षिक्षा में गुणवत्ता में सुधार आयेगी तब तक हम आगे नहीं बढ़ पायेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे विष्वविद्यालयों में कई समस्यायें हैं, उन समस्याओं का निराकरण उच्च षिक्षा विभाग एवं विष्वविद्यालयों को समन्वय स्थापित कर करें। राज्यपाल  आज राज भवन में राज्य के विश्वविद्यालयों की षैक्षणिक एवं प्रषासनिक कार्यप्रगति की उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक कर रही थीं। बैठक में अपर मुख्य सचिव, योजना एवं वित्त विभाग  के.के. खंडेलवाल, प्रधान सचिव, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा शैलेश कुमार सिंह, राज्यपाल के प्रधान सचिव   सतेन्द्र सिंह, सचिव, भवन निर्माण विभाग   सुनील कुमार, सचिव, झारखण्ड लोक सेवा आयोग  रणेन्द्र कुमार सहित राँची विष्वविद्यालय, विनोबा भावे विश्वविद्यालय, सिदो कान्हु विष्वविद्यालय, नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय, कोल्हान विश्वविद्यालय, बिनोद बिहारी महतो कोयलाचंल विश्वविद्यालय, डा0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय के कुलपति मौजूद थे।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.