By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

घर में ही पत्नी और बच्चों के साथ उपवास पर बैठ गए हैं बिहार के नियोजित शिक्षक

;

- sponsored -

17 फरवरी से नियोजित शिक्षक हड़ताल पर हैं हड़ताली शिक्षकोण ने आज अपने परिवार और  बीवी बच्चों के साथ 1 दिन का उपवास रखा. नियोजित शिक्षक समान काम का समान वेतन, नियोजित शिक्षकों को सहायक शिक्षक का दर्जा देने, सेवा शर्त लागू करने सहित कई मांगों को लेकर 17 फरवरी से हड़ताल पर हैं.

-sponsored-

-sponsored-

घर में ही पत्नी और बच्चों के साथ उपवास पर बैठ गए हैं बिहार के नियोजित शिक्षक.

सिटी पोस्ट लाइव : 17 फरवरी से नियोजित शिक्षक हड़ताल पर हैं हड़ताली शिक्षकोण ने आज अपने परिवार और  बीवी बच्चों के साथ 1 दिन का उपवास रखा. नियोजित शिक्षक समान काम का समान वेतन, नियोजित शिक्षकों को सहायक शिक्षक का दर्जा देने, सेवा शर्त लागू करने सहित कई मांगों को लेकर 17 फरवरी से हड़ताल पर हैं. हड़ताल के दौरान सैकड़ों शिक्षकों पर जहां प्राथमिकी दर्ज की गई वहीं सैकड़ों शिक्षकों को निलंबित भी किया गया लेकिन उसके बावजूद शिक्षक हड़ताल पर डटे हैं.कोरोना वायरस को लेकर देश में जारी लॉकडाउन  में भी हड़ताली शिक्षक अपने अपने घरों में बीवी बच्चों के साथ पोस्टर और तख्तियां लेकर उपवास पर रहकर हड़ताल जारी रखे हुए हैं.

शिक्षकों ने कहा कि सरकार के किसी भी  दमनात्मक कार्रवाई से शिक्षक डरने वाले नहीं हैं. सरकार लॉकडाउन के बाद हड़ताली शिक्षकों से वार्ता कर उनकी मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार कर उसे पूरा करें. लॉकडाउन में मानवीय आधार पर फरवरी और मार्च का वेतन भुगतान करने की भी मांग शिक्षकों ने की है. शिक्षकों का कहना है कि जबतक सरकार शिक्षकों के हड़ताल के मसले पर अपना स्टैंड स्पष्ट नहीं करती,  हड़ताली शिक्षकों के विरुद्ध सभी कारवाईयों को वापस नहीं करती और सभी मांगों को पूरा नहीं करती है तबतक शिक्षक हड़ताल पर डटे रहेंगे.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.