By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बच्चा चोरी की आड़ में कानून हाथ में लेने पर होगी कठोरतम कार्रवाई : एसपी

Above Post Content

- sponsored -

बोकारो में भी इन दिनों में बच्चा-चोरी की अफवाह में जगह-जगह मारपीट की घटनाएं सामने आ रही है। एक तरफ जहां अकेले अनजान व्यक्ति को जो बच्चा चोर के संदेह में पीट दे रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ आजकल के बच्चे खुद ही अपने अपहरण की झूठी कहानियां गढ़ दे रहे हैं।

Below Featured Image

-sponsored-

बच्चा चोरी की आड़ में कानून हाथ में लेने पर होगी कठोरतम कार्रवाई : एसपी

सिटी पोस्ट लाइव, बोकारो: बोकारो में भी इन दिनों में बच्चा-चोरी की अफवाह में जगह-जगह मारपीट की घटनाएं सामने आ रही है। एक तरफ जहां अकेले अनजान व्यक्ति को जो बच्चा चोर के संदेह में पीट दे रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ आजकल के बच्चे खुद ही अपने अपहरण की झूठी कहानियां गढ़ दे रहे हैं। ऐसे मामले लगातार बोकारो में सामने आ रहे हैं। दो दिन पहले ही  पिंड्राजोरा थाना क्षेत्र में एक दंपति के साथ बच्चा चोरी के आरोप में हुए पिटाई तथा बुधवार को एक महिला को घेरकर पकड़ लिये जाने के मामले को पुलिस ने काफी गंभीरता से लिया है। एसपी पी. मुरूगन ने कहा कि इन दिनों जिले भर में बच्चा चोरी की अफवाह फैलाई जा रही है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि लोग बिना सोचे-समझे, जाने पहचाने और बिना पुलिस को सूचित किए सीधे कानून को अपने हाथ में ले ले रहे हैं। यह सरासर गलत बात है अगर कोई संदिग्ध व्यक्ति दिखाई देता है तो उस गांव के पुराने लोगों के साथ उसकी बातचीत होनी चाहिए। पूछताछ होनी चाहिए। फिर स्थानीय थाने को एवं डायल 100 पर सूचित कर कानूनी तरीके से इस पर काम किया जाना चाहिए, लेकिन केवल संदेह के आधार पर किसी के साथ मारपीट किया जाना कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। किसी को यह अधिकार नहीं है कि वह कानून को अपने हाथ में ले और किसी के साथ भी मारपीट कर दे। उसे चाहिए कि पुलिस को सर्वप्रथम इसकी जानकारी दे। एसपी ने  कहा कि बच्चा चोरी की आड़ में इस तरह जो लोग कानून को अपने हाथ में लेंगे, उनके ऊपर भी सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं, सोशल मीडिया पर भी जो लोग बच्चा चोरी की अफवाहें फैलाएंगे, उनके ऊपर भी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिले भर की पुलिस को उन्होंने इस मामले में हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है। कहा कि इस तरह के मामले में पुलिस को तत्काल वहां पहुंचकर सबसे पहले किसी को भीड़तंत्र की हिंसा का शिकार नहीं होने देना है। सबसे पहले उसका बचाव किया जाना है उसके बाद इस मामले की गंभीरता के साथ छानबीन की जानी है। पिंड्राजोरा में दंपति के साथ हुई मारपीट के मामले में एसपी ने जांच जारी होने की बात कही।

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.