By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

शिक्षा मंत्री से वार्ता विफल, पारा शिक्षकों ने दो जनवरी तक दिया समय

;

- sponsored -

राज्य के 67 हजार पारा शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल के साथ गुरुवार की शाम करीब छह बजे से शुरू होकर रात करीब साढ़े नौ बजे तक चली वार्ता विफल हो गई। लगभग दो घंटे हुई वार्ता के दौरान सहमति नहीं बन पाई।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

शिक्षा मंत्री से वार्ता विफल, पारा शिक्षकों ने दो जनवरी तक दिया समय

सिटी पोस्ट लाइव,  रांची: राज्य के 67 हजार पारा शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल के साथ करीब छह बजे से शुरू होकर रात करीब साढ़े नौ बजे तक चली वार्ता विफल हो गई। लगभग दो घंटे हुई वार्ता के दौरान सहमति नहीं बन पाई। जहां पारा शिक्षक कम से 15 से 20 हजार वेतन करने की मांग कर रहे थे वहीं राज्य सरकार एक से दो हजार रुपये बढ़ाने को तैयार थी। पारा शिक्षकों ने शिक्षा मंत्री डॉ. नीरा यादव से अनुरोध किया कि वे मुख्यमंत्री रघुवर दास से मिलकर हमलोगों का वेतनमान 15 से 20 हजार करने पर सहमति प्राप्त करें और दो जनवरी तक इसकी घोषणा करें। शिक्षा मंत्री के साथ वार्ता में शामिल एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के सदस्य संजय दुबे ने बताया कि अगर सरकार हमलोगों की मांगों से सहमत नहीं होगी तो आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार वेतनमान के लिए एक समिति बनाए और तत्काल पारा शिक्षकों को 15 से 20 हजार के वेतन दे। वार्ता में शिक्षा मंत्री के अलावा शिक्षा विभाग के सचिव अमरेंद्र प्रताप सिंह, एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के सदस्य संजय दुबे, बजरंग प्रसाद सहित अन्य लोग शामिल हुए। उल्लेखनीय है कि झारखंड के पारा शिक्षक छत्तीसगढ़ राज्य की तर्ज पर स्थायीकरण की मांग को लेकर लगभग एक महीने से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.