By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

“विशेष” : लड़कियों की हिम्मत ने दिखाई मनचलों को उनकी औकात

;

- sponsored -

लड़कियों को सरे राह छेड़ना,अब आम बात बनकर रह गयी है। शर्मो-हया और लोक- लाज से अमूमन लड़कियां, छेड़छाड़ का प्रतिकार नहीं कर पाती हैं। लेकिन बिहार के सहरसा जिले के पामा गाँव की लड़कियों ने दो मनचले युवक को सबक की ऐसी सौगात दी है कि यह देश के लिए एक नजीर बन सकती है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

“विशेष” : लड़कियों की हिम्मत ने दिखाई मनचलों को उनकी औकात

सिटी पोस्ट लाइव : लड़कियों को सरे राह छेड़ना,अब आम बात बनकर रह गयी है। शर्मो-हया और लोक- लाज से अमूमन लड़कियां, छेड़छाड़ का प्रतिकार नहीं कर पाती हैं। लेकिन बिहार के सहरसा जिले के पामा गाँव की लड़कियों ने दो मनचले युवक को सबक की ऐसी सौगात दी है कि यह देश के लिए एक नजीर बन सकती है। यह सनसनीखेज वाकया सहरसा के धबौली गाँव के समीप की है।बीते कई दिनों से कुछ मनचले युवक स्कूल जाती हुई और स्कूल से वापस घर लौटती लड़कियों पर गन्दी-गन्दी फब्तियां कसते थे।यही नहीं, ये मनचले, लड़कियों के हर गुप्त अंगों की, बेहद गंदे शब्दों के साथ, उसकी व्याख्या भी करते थे। लड़कियां डरी-सहमी सभी कुछ बर्दास्त कर रही थीं। लेकिन बीते कल छात्राओं ने अपना आपा खो दिया और दो मनचलों को धर दबोचा।

घटना के बाबत मिली जानकारी के मुताबिक जब छात्राएं धबोली हाई स्कूल से पढ़ाई कर अपने गांव पामा लौट रही थीं, उसी दौरान पहले से खड़े दोनों मनचले युवकों ने लड़की के साथ अभद्र व्यवहार करना शुरू कर दिया। लेकिन लड़कियां, इसबार डरी नहीं और हिम्मत दिखाकर दोनों युवकों को पकड़ लिया। फिर घरवालों को फोन से इस घटना की सूचना दी। बिना समय गंवाए परिजन मौके पर पहुंचे और दोनों युवकों को अपने कब्जे में लेकर अपने गांव लेकर चले आये। पामा गांव ले जाकर पहले दोनों युवकों को लड़कियों ने जमकर धुनाई की फिर इनके बाल काटे गए और चेहरे पर कालिख पोती गयी।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

इसके बाद दोनों मनचले को पूरे गाँव घुमाया गया। इस दौरान लड़कियाँ इन्हें रुक-रुक कर पीटती भी रहीं। लड़कियों के हुजूम के साथ सैंकड़ों लोगों और छोटे बच्चों का भी काफिला, इन दोनों मनचलों के साथ चल रहा था। यह सब कुछ बिल्कुल फिल्मी स्टाईल में हो रहा था। इसी बीच किसी ने दोनों मनचलों के परिजनों को इस घटनाक्रम की सूचना दे दी। पूरी घटना की गम्भीरता को देखते हुए मनचले के परिजन अपने गाँव के प्रतिष्ठित लोगों के साथ पामा गाँव आये। काफी मान-मनौव्ल हुए ।परिजनों ने खुद पामा गाँव वाले और पीड़ित लड़कियों से माफी मांगी।

गाँव वाले पिघल गए और दोनों मनचलों को कई शर्तों के घेरे में रखकर, उन्हें आजाद कर दिया। लेकिन घण्टों चले इस हाईवोल्टेज ड्रामें में पस्तपार पुलिस की कोई इंट्री नहीं हुई जबकि इस घटना की सूचना पुलिस को बहुत पहले ही दी गयी थी। पुलिस के चरित्र को लेकर, अब कोई भी सवाल उठाना,खुद को लज्जित करना है। इस घटना ने लड़कियों के बदले तेवर और उनकी हिम्मत का परचम लहराया है। लड़कियों ने दो मनचलों को सबक सिखाकर, पूरे देश को यह संदेश दिया है कि अगर लड़कियां मजबूत होकर अपनी हिम्मत को शक्ल देने लगे, तो फिर मनचलों की कोई खैर नहीं है। इस पूरे वाकये का वीडियो भी खूब वायरल हो रहा है।

सहरसा से पीटीएन न्यूज मीडिया ग्रुप के सीनियर एडिटर मुकेश कुमार सिंह की “विशेष “रिपोर्ट

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.