By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

जल-जमाव से हजारों एकड़ में लगी फसल बर्बाद, सैकड़ों किसानों ने डीएम से लगायी गुहार

HTML Code here
;

- sponsored -

बेगूसराय खोदावंदपुर प्रखंड क्षेत्र में हुई भारी वर्षा ने किसानों को बर्बाद कर दिया है. खोदावंदपुर पंचायत के एक हजार एकड़ से अधिक भूमि में दो से तीन फीट तक जलजमाव है. जिसके कारण मक्का, जनेर, ईख, ढेंइचा अलावे सब्जी की फसलें नष्ट हो गयी है.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बेगूसराय खोदावंदपुर प्रखंड क्षेत्र में हुई भारी वर्षा ने किसानों को बर्बाद कर दिया है. खोदावंदपुर पंचायत के एक हजार एकड़ से अधिक भूमि में दो से तीन फीट तक जलजमाव है. जिसके कारण मक्का, जनेर, ईख, ढेंइचा अलावे सब्जी की फसलें नष्ट हो गयी है. फसल डूबने से परेशान पंचायत के सैकड़ों किसानों ने सामुहिक आवेदन देकर जलनिकासी की मांग जिलाधिकारी से किया है. दिये गये आवेदन में बताया गया है कि खोदावंदपुर गांव के वार्ड 12 स्थित कुछ किसान अपने स्वार्थ के लिये जलनिकासी के रास्ते को अवरुद्ध कर दिये हैं. जिसके कारण जलनिकासी नहीं हो रही है.

किसानों का कहना है कि जलजमाव से आगामी खरीफ फसल की संभावना भी खत्म हो गयी है. बताया गया है कि खोदावंदपुर के किसान रामबहादुर शर्मा, रामशंकर महतो समेत एक सौ से अधिक किसानों का फसल, सब्जी, पशुचारा, गन्ना सहित अन्य फसलें भी डूबने से बर्बाद हो गयी है. भारी बारिश से सैकड़ों घरों में पानी भी घुस गयी है. जिससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है.लोगों को दूसरों के घरों में रहने को विवश हैं.इसकी लिखित शिकायत गत 29 जून को ही डीएम, एसडीएम मंझौल एवं बीडीओ खोदावंदपुर को देे दिया गया है, परंतु अब तक इस समस्या का समाधान नहीं हो सका.

पंचायत की मुखिया शोभा देवी, पंचायत समिति सदस्य अनामिका रानी, वार्ड आठ की सदस्या विभा देवी, पंच फूल देवी, वार्ड सात की पंचायत सदस्या ममता देवी समेत कई वार्ड सदस्यों ने किसानों की मांगों को उचित बताते हुए जलनिकासी करवाने की मांग जिला प्रशासन से किया है. बताते चले कि पिछले दिनों खोदावंदपुर आये स्थानीय विधायक राजवंशी महतो को भी किसानों ने जलजमाव की समस्या से अवगत कराया था. विधायक ने जलनिकासी की व्यवस्था करवाने का भरोसा किसानों को दिया था, परंतु अबतक इस समस्या का निपटारा नहीं किया गया है.जिससे किसानों में मायूसी है.वर्तमान फसल और भावी फसल नहीं होने से चिंतित किसानों की आंखें प्रशासन की ओर टकटकी लगाये है. कब तक इस समस्या का निदान होगा यह तो समय ही बतायेगा.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

बेगूसराय से जीवेश तरुण की रिपोर्ट

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.