By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

विश्व बैंक की परियोजनाओं को पूरा करने में पैसा और समय का सदुपयोग करें: सचिव

- sponsored -

नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव अजय कुमार सिंह ने बुधवार को विश्व बैंक संपोषित धनबाद स्मार्ट रोड और खूंटी जलापूर्ति परियोजनाओं की समीक्षा की।

-sponsored-

विश्व बैंक की परियोजनाओं को पूरा करने में पैसा और समय का सदुपयोग करें: सचिव

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव अजय कुमार सिंह ने बुधवार को विश्व बैंक संपोषित धनबाद स्मार्ट रोड और खूंटी जलापूर्ति परियोजनाओं की समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में सचिव ने कार्य करने वाले प्रोजेक्ट मैंनेजमेंट कन्सलटेंट एवं संवेदकों से कहा कि परियोजनाओं में पैसे और समय का सदुपयोग किया जाए। इससे परियोजनाएं समय पर पूरी होगीं और आमजन को लाभ मिलेगा।

धनबाद स्मार्ट रोड 400 करोड़ रुपयों  की योजना है। इस परियोजना में काको चौक से विनोद बिहारी चौक और विनोद बिहारी चौक से मेमको गोल बिल्डिंग चौक तक कुल 11.7 किलोमीटर स्मार्ट सड़क बनाई जानी है। यह सड़क फोर लेन होगी, जिसमें दोनों ओर सर्विस लेन, साईकिल ट्रैक, यूटीलीटि डक्ट और फुटपाथ की व्यवस्था रहेगी। बीच में डिवाईडर पर लाईटिंग एवं पौधरोपन किया जाएगा। 30 नवम्बर तक 1347 वृक्षों में 916 वृक्षों का ट्रान्सप्लांटेशन किया जा चुका है। सचिव ने कहा कि सड़क के दोनों ओर वृक्षारोपन के साथ-साथ डिवाईडर पर भी पौधरोपन किया जाए। यह परियोजना फरवरी 2021 तक पूरी होनी है। सचिव ने संवेदक कम्पनी शिवालया, रवि एवं त्रिवेणी कन्सट्रक्शन से कहा कि समय पर काम नहीं पूरा होगा, तब एकरारनामे के अनुसार राशि की कटौती कर ली जाएगी। विश्व बैंक सम्पोषित खूटी जलापूर्ति परियोजना में काफी विलंब होने पर सचिव ने नाराजगी जाहिर की और कहा कि परियोजना में समय अवधि नहीं बढ़ायी जाएगी। विलंब होने पर आर्थिक दंड लगाया जाएगा। संवेदक कम्पनी श्री राम ईपीसी ने आश्वासन दिया कि मैनपावर बढ़ाकर समय पर काम पूरा करा लिया जाएगा। खूंटी जलापूर्ति योजना के तहत् कुल 8350 घरों को कनेक्शन दिया जाएगा। कुल 59.47 करोड़ की परियोजना है, जिसके तहत् 43 जलमीनार एक इंटेक वेल और एक डब्ल्यूटीपी बनाया जाएगा। इस परियोजना के तहत् 126.9 किलोमीटर पाईप लाईन बिछाया जाएगा।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.