By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

जो चल और बोल नहीं सकते, वह संसद में आपकी आवाज कैसे बनेंगेः रघुवर दास

;

- sponsored -

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि दुमका संसदीय सीट पर चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार अब ठीक से चल और बोल भी नहीं पाते, वह संसद में दुमका की आवाज कैसे बन सकते हैं? 2014 में गुरुजी को आपने सांसद बनाया लेकिन वही सांसद 6 महीने में एकबार संसद जाते हैं अपनी उपस्थिति दर्ज कराने ताकि उसकी सदस्यता समाप्त न हो जाए।

-sponsored-

-sponsored-

जो चल और बोल नहीं सकते, वह संसद में आपकी आवाज कैसे बनेंगेः रघुवर दास

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि दुमका संसदीय सीट पर चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार अब ठीक से चल और बोल भी नहीं पाते, वह संसद में दुमका की आवाज कैसे बन सकते हैं? 2014 में गुरुजी को आपने सांसद बनाया लेकिन वही सांसद 6 महीने में एकबार संसद जाते हैं अपनी उपस्थिति दर्ज कराने ताकि उसकी सदस्यता समाप्त न हो जाए। यह दुमका संसदीय क्षेत्र की जनता के साथ विश्वासघात है। मुख्यमंत्री दास शुक्रवार को दुमका के रामगढ़ में भाजपा उम्मीदवार सुनील सोरेन के पक्ष में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बड़ी उम्मीद ने आपने गुरुजी को चुना लेकिन उन्होंने आप सभी का अपमान किया है। जेएमएम अब झारखंड मुद्रा मोचन पार्टी बन गयी है। वर्षों से संथाल की जनता को ठग कर, छल कर, दुष्प्रचार कर गरीब बना दिया। इस तरह की राजनीति कर सोरेन परिवार ने सबसे ज्यादा धन भ्रष्ट तरीके से अर्जित किया है। इस जामा की धरती के सुनील सोरेन को नरेंद्र मोदी ने उम्मीदवार बनाया है ताकि आपका सांसद ऐसा हो जो आपके बीच रहे। ऐसा नहीं जो आप के बीच कभी आता ही न हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा ने संथाल परगना समेत पूरे राज्य में वर्षों तक शासन किया लेकिन ये जातिवाद, सम्प्रदायवाद की राजनीति कर आदिवासी समाज समेत पूरे राज्य को विकास की दौड़ में पीछे करने का कार्य किया। 2014 के बाद नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में संथाल परगना और यहां के लोगों में बदलाव देखने को मिल रहा है।14 साल तक जेएमएम, कांग्रेस ने राज्य में सरकार गिराने का खेला। राज्य के विकास और यहां के लोगों की समृद्धि के प्रति गंभीरता नहीं दिखायी। 14 साल तक स्थानीय नीति को परिभाषित नहीं किया। मोदी के नेतृत्व में स्थानीय को झारखंड में परिभाषित कर यहां के युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने की पहल हुई। अब जिला के युवाओं को जिला के तृतीय और चतुर्थ वर्ग की नौकरी में नियोजित करने का प्रावधान सुनिश्चित हुआ। वर्त्तमान सरकार ने 2014 के बाद से एक लाख लोगों को सरकारी नौकरी दी है। एक माह के अंदर 50 हजार शिक्षकों को नियुक्त सरकार करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि दुमका का मसानजोर, चांडिल डैम समेत अन्य कार्यो में विस्थापन कांग्रेस और जेएमएम की देन है। इन्होंने यहां के लोगों को विस्थापित कर दूसरे राज्य के लोगों को लाभान्वित किया। जेएमएम और कांग्रेस ने राज्य को विस्थापन विरासत में सौंपा है। यह मोदी जी का कार्यकाल या भाजपा के शासनकाल में नहीं हुआ।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.