By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

जंगली हाथियों ने आधा दर्जन पशुओं को कूचकर मार डाला

- sponsored -

गढ़वा जिले के रंका थाना क्षेत्र के बिश्रामपुर गाँव के अलग – अलग टोले में मंगलवार की रात हाथियों के एक झुँड ने आधा दर्जन पशुओं को कूच कर मार डाला.तथा दो पशु घायल है. सभी पशु झाला में बांधा हुआ था.

जंगली हाथियों ने आधा दर्जन पशुओं को कूचकर मार डाला
सिटी पोस्ट लाइव, गढ़वा: गढ़वा जिले के रंका थाना क्षेत्र के बिश्रामपुर गाँव के अलग – अलग टोले में मंगलवार की रात हाथियों के एक झुँड ने आधा दर्जन पशुओं को कूच कर मार डाला.तथा दो पशु घायल है. सभी पशु झाला में बांधा हुआ था. इससे किसानों की कमर टूट गई है. समाचार के अनुसार पिपरादामर के मनमोहन उरांव के दो दुधारू गाय ,एक बैल ,बालकेश्वर उरांव के एक गाय, बसकटिया के शिवनाथ तिग्गा के एक बैल, बुढ़ापरास के संजय टोपो के एक बैल को हाथियों ने कूच कर मार डाला. मनमोहन उरांव के एक बछड़ा व शिवनाथ तिग्गा का एक बैल घायल है. किसान मनमोहन उरांव ने बताया कि रात्रि में चार पशु दो गाय, एक बैल, एक बछड़े बांधा हुआ था. हाथियों का झुँड आया तो सभी पशु भौंकरने लगे. नींद खुली, परंतु हाथियों का झुँड देखकर वह घर में दुबक गया. सुबह होने पर चार पशु में तीन पशु मर गया है और एक बछड़ा घायल है. शिवनाथ तिग्गा ने बताया कि झाला में दो बैल बांधा हुआ था. एक बैल को हाथियों ने कूच कर मार डाला. दूसरा बैल घायलावस्था में भाग कर घर पर आ गया. उसने बताया कि खलिहान में दस बोरा धान रखा हुआ था. वह भी हाथियों ने खा गया. सभी किसानों को एक लाख रुपए की छति हुआ है. किसानों ने बताया कि पशुओं को मर जाने से उनकी कमर टूट गई है. बैल से ही  खेती – बारी करते हैं. सूचना मिलने पर मुखिया सुधीर कुजूर, समाजसेवी छोटु सिंह टोले में घूमकर मारे गए पशुओं के बारे में जायजा लिया. उन्होने किसानों की हुई छति को सरकार से मुआवजा की मांग की है. उन्होने कहा कि किसानों को हर संभव मदद किया जाएगा. हाथियों के इस आतंक से लोगों में दहशत फैल गई है.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.