By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बेगूसराय : ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन ने कन्हैया पर हुए हमले के विरोध में निकला मार्च

Above Post Content

- sponsored -

बेगूसराय में आज ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन के द्वारा जेएनयू के पूर्व छात्र अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर सुपौल में हमला सहित बजरंग दल के द्वारा एनआरसी, सीएए और एनपीआर के विरोध में लगातार की जा रही

Below Featured Image

-sponsored-

बेगूसराय : ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन ने कन्हैया पर हुए हमले के विरोध में निकला मार्च

सिटी पोस्ट लाइव : बेगूसराय में आज ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन के द्वारा जेएनयू के पूर्व छात्र अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर सुपौल में हमला सहित बजरंग दल के द्वारा एनआरसी, सीएए और एनपीआर के विरोध में लगातार की जा रही टीका टिप्पणी के मद्देनजर एक प्रतिरोध मार्च निकाला गया। जिसमे शामिल छात्रो ने दो टूक कहा है कि अगर इसी तरह हमले होते रहे तो वो चुप नही बैठेंगे और इसका मुहतोड़ जवाब देंगे। ये प्रतिरोध मार्च जी डी कॉलेज से निकल कर शहर के विभिन्न हिस्सो में घुमा। इस दौरान एनआरसी, सीएए और एनपीआर के विरोध में जमकर नारेबाजी भी की गई। जेएनयू के पूर्व छात्र अध्यक्ष कन्हैया कुमार इन दिनों बिहार के विभिन्न हिस्सों में जन गण मन यात्रा पर निकले हुए हैं। इसी सिलसिले में सुपौल में उनके काफिले पर उपद्रवी तत्वों के द्वारा किए गए हमले के विरोध में आज ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन के कार्यकर्ताओं ने प्रतिरोध मार्च का आयोजन किया।

इस दौरान कार्यकर्ताओं ने एन आर सी, सी ए ए आर एन पीआर के विरोध में जमकर नारेबाजी की और इसे जल्द से जल्द वापस लेने की मांग सरकार से की। इस दौरान छात्र नेताओं का कहना है कि जिला के विभिन्न हिस्सों में एनआरसी सीएए और एनपीआर के बिरोध में निकाली में आयोजित धरना के कार्यक्रम को बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के द्वारा झूठा दोषारोपण किया गया है इसके लिए आरोपी गिरफ्तार नेता को जेल भेजने का काम अभिलंब किया जाए। इसके साथ ही नेताओं ने चेतावनी दी है कि अगर कन्हैया कुमार पर हमला होता है तो अब वह चुप नहीं बैठेंगे और इसके खिलाफ मुहतोड़ जवाब देंगे। छात्रों ने कहा है कि गिरफ्तार बजरंग दल के नेताओं को अगर जेल नहीं भेजा जाता है और जिला में आपसी सौहार्द बिगड़ता है तो इसके लिए जवाबदेह जिला प्रशासन और बजरंग दल के कार्यकर्ता होंगे।

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.