By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

वाराणसी में 117 नये कोरोना संक्रमित मिले, कुल मरीजों की संख्या 2,884 पहुंची

;

- sponsored -

वाराणसी में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। जिले में शुक्रवार देर शाम से शनिवार दोपहर तक बीएचयू लैब से प्राप्त 421 रिपोर्ट में से 117 नये कोरोना संक्रमित मरीज पाये गये। जनपद में अब कुल कोरोना मरीजों की संख्या 2884 हो गई है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, वाराणसी: वाराणसी में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। जिले में शुक्रवार देर शाम से शनिवार दोपहर तक बीएचयू लैब से प्राप्त 421 रिपोर्ट में से 117 नये कोरोना संक्रमित मरीज पाये गये। जनपद में अब कुल कोरोना मरीजों की संख्या 2884 हो गई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. वीबी सिंह के अनुसार जिले में 1103 मरीज स्वस्थ होकर अपने अपने घरों को लौट चुके है। वर्तमान में एक्टिव कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1,723 है। उन्होंने बताया कि 58 संक्रमित मरीजों की अब तक मृत्यु हो चुकी है। उधर, कोरोना की चेन न टूटता देख शनिवार दोपहर में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने अपने कैम्प कार्यालय में लैब टेक्नीशियन, कम्प्यूटर ऑपरेटर एवं पशुचिकित्सा विभाग के कर्मचारियों संग बैठक की। उन्होंने बताया कि सैम्पल कलेक्शन में लगे कर्मचारियों की मदद के लिए पशु चिकित्सा विभाग के कर्मचारियों को लगाया जायेगा। प्रत्येक पीएचसी पर एक डाटा इन्ट्री ऑपरेटर लगाकर डाटा फीडिंग का कार्य कराया जायेगा।
-लैब टेक्नीशियन समय से कार्य पूरा करें
Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने लैब टेक्नीशियनों को निर्देशित किया कि प्रत्येक दिन सुबह 08 बजे से अपराह्न 02 बजे तक अपना-अपना कार्य पूर्ण करें। ताकि समय पर रिपोर्टिंग इत्यादि की जा सके। कोविड पॉजिटिव मरीजों के कांटेक्ट ट्रेसिंग वाले व्यक्तियों का सैम्पल जॉच प्राथमिकता पर किया जायेगा।
आंगनबाड़ी एवं आशा कार्यकत्रियों द्वारा जो सर्वे किया जा रहा है, उनका भी जांच कराया जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि “अर्ली डिटेक्शन, अर्ली कैचिंग” कांसेप्ट पर सभी टीमों द्वारा कार्य किया जायेगा, ताकि मरीजों की पहचान समय रहते कर ली जाय और उनका बेहतर इलाज हो सके। एलटी द्वारा शिकायत की गयी कि कांटेक्ट ट्रेसिंग वाले व्यक्तियों द्वारा सैम्पल देने में समस्या किये जाने की जानकारी पर जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि जो लोग कांटेक्ट ट्रेसिंग में आये है उन्हें अनिवार्य रूप से सैम्पल जांच कराना पड़ेगा, अन्यथा उनके विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी, उप जिलाधिकारी राजातालाब, डिप्टी कलेक्टर माल, बेसिक शिक्षाधिकारी सहित अन्य अफसर मौजूद रहे।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.