By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

CM नीतीश की कोरोना जांच रिपोर्ट आ गई है सामने, सबको था इंतज़ार.

;

- sponsored -

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव :बिहार विधान परिषद के कार्यकारी सभापति कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद उनके संपर्क में आनेवाले सभी राजनेताओं का कोरोना टेस्ट का सैम्पल लिया गया है. सभापति के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत पटना से लेकर रांची तक नेता कोरोना के रडार पर आ गए हैं.विधान परिषद के सभापति के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद इसके चपेटे में कई राजनेताओं के आ जाने की आशंका प्रबल हो गई है.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी 1 जुलाई को अवधेश नारायण सिंह के साथ मंच साझा किया था.मुख्यमंत्री के ठीक बगल में विधान परिषद सभापति मौजूद थे.अवधेश नारायण सिंह के बगल में विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी मौजूद थे.

बिहार सरकार के लिए बड़ी राहत की खबर यह है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कोरोना टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है. आपको बता दें कि मुख्यमंत्री आवास के कुल 16 लोगों का टेस्ट सैंपल लिया गया था जिनकी रिपोर्ट आ गई है। खबरों के मुताबिक डीएसपी रैंक के एक अधिकारी पॉजिटिव पाए गए हैं। हालांकि इस मामले में अब तक आधिकारिक तौर पर कोई बयान सामने नहीं आया है। अवधेश नारायण सिंह के पुराना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सियासी गलियारे में हड़कंप मच गया था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुद पहल करते हुए अपना कोरोना टेस्ट कराया और अब उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।

1 जुलाई को विधानपरिषद में 9 नवनिर्वाचित विधान पार्षदों का शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया था.सभी नव-निर्वाचित सदस्यों ने एकसाथ शपथ लिया था.इन्हीं 9 विधान पार्षदों में से एक एमएलसी शपथग्रहण के बाद RJD  सुप्रीमो लालू प्रसाद से मिलने रांची रिम्स भी पहुँच गए थे.बिस्कोमान के अध्यक्ष और RJD के नवनिर्वाचित एमएलसी सुनील कुमार सिंह रांची के रिम्स में जाकर लालू प्रसाद को गुलदस्ता सौंपा था.ऐसे में बिहार के राजनेताओं का कोरोना कनेक्शन रांची के रिम्स जाने की आशंका प्रबल हो गई है.

;

-sponsored-

Comments are closed.