By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सरकार एवं जिला प्रशासन के लाख प्रयासों के बावजूद ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता की कमी

HTML Code here
;

- sponsored -

सरकार एवं जिला प्रशासन के लाख प्रयासों के बावजूद अभी भी ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता की कमी देखी जा रही है तथा असामाजिक तत्वों द्वारा फैलाए गए अफवाहों का असर सामने आ रहा है। दरअसल कोरोना वैक्सीन को लेकर सरकार एवं जिला प्रशासन के द्वारा टीका एक्सप्रेस योजना के तहत वैक्सीनेशन का काम पूरे जिले में किया जा रहा है

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : सरकार एवं जिला प्रशासन के लाख प्रयासों के बावजूद अभी भी ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता की कमी देखी जा रही है तथा असामाजिक तत्वों द्वारा फैलाए गए अफवाहों का असर सामने आ रहा है। दरअसल कोरोना वैक्सीन को लेकर सरकार एवं जिला प्रशासन के द्वारा टीका एक्सप्रेस योजना के तहत वैक्सीनेशन का काम पूरे जिले में किया जा रहा है. लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी लोग वैक्सीन लेने को तैयार नहीं है। इतना ही नहीं जब सरकारी कर्मी या स्वास्थ्य कर्मी ग्रामीण इलाकों में जाते हैं तो लोगों के द्वारा उन्हें लाठी डंडे से विरोध किया जाता है।

ताजा मामला तेघड़ा अनुमंडल क्षेत्र के भगवानपुर प्रखंड से जुड़ा हुआ है। तस्वीरों में स्पष्ट देखा जा रहा है कि किस तरह भगवानपुर प्रखंड के बी डी ओ सहित स्वास्थ्य कर्मी एवं जनप्रतिनिधि मुसहरी इलाके में गए और लोगों से वैक्सीन लेने का आग्रह किया तो किस तरह लोगों ने एक खास जाति पर वार करते हुए कहा कि कोरोनावायरस इन्हीं जाति के लोगों को होगा, गंगा मैया ने कहा है कि मुसहर जाति के लोगों में कोरोना का प्रभाव नही होगा।  थक हार कर स्वास्थ्य कर्मी वापस लौट गए।

बेगूसराय के सांसद प्रतिनिधि अमरेंद्र कुमार अमर ने बताया की राजनीति से प्रेरित होकर कुछ लोगों के द्वारा वैक्सीन के संबंध में अफवाह फैलाई गई है कि वैक्सीन लेने के बाद लोगों की मृत्यु हो जाती है या फिर वह नपुंसक हो जाते हैं इसका सीधा सीधा प्रभाव ग्रामीण इलाकों में देखने को मिल रहा है । अगर लोगों में इसी प्रकार जागरूकता की कमी रही तो कोरोना से लड़ाई में खास खासा प्रभाव पड़ने की आशंका है ।

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.