By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहार में कोरोना की तीसरी लहर तो नहीं आ गई? दो मरीजों की मौत से मचा हडकंप

ऑक्सीजन लेवल गिरने से हुई मौत, एडमिट होने वक्त थे कोरोना जैसे लक्षण लेकिन नहीं हुई कोरोना जांच

HTML Code here
;

- sponsored -

गोपालगंज सदर अस्पताल साँस लेने में तकलीफ होने की शिकायत के बाद चार नये मरीजों को भी भर्ती किया गया है.सूत्रों के अनुसार मृतक दो मरीजों में कोरोना जैसा लक्षण थे लेकिन किसी भी मरीज का कोविड-19 (Covid-19) की जांच नहीं करायी गयी थी.सताने लगी है तीसरी लहर की आशंका.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव :बिहार के गोपालगंज जिले से ऑक्सीजन लेवल गिरने की वजह से दो मरीजों की मौत हो जाने का मामला सामने आया है. दोनों की मौत इलाज के दौरान सदर अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में हुई है. साँस लेने में तकलीफ होने की शिकायत के बाद चार नये मरीजों को भी भर्ती किया गया है. सूत्रों के अनुसार मृतक मरीजों में कोरोना जैसा लक्षण थे लेकिन किसी भी मरीज का कोविड-19 (Covid-19) की जांच नहीं करायी गयी थी. मृतक मरीजों में सदर प्रखंड के फतहां गांव के रहनेवाले स्व. योगी शर्मा के पुत्र चंद्रमा शर्मा व मांझा प्रखंड के सुरवनिया के मोहर्रम अंसारी की पत्नी नगमा खातुन थीं. दोनों की उम्र 55 से 60 साल बतायी गयी है.

सदर अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक महिला को रविवार सुबह में भर्ती कराया गया था और उसका ऑक्सीजन लेवल तेजी से गिर रहा था.उन्हें मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया. गोरखपुर जाने के दौरान रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी. एंबुलेंस पर परिजन शव को लेकर सदर अस्पताल पहुंचे, जहां डॉक्टर ने मौत होने की पुष्टि की. दूसरे मरीज की इलाज के दौरान सदर अस्पताल में मौत हो गयी. रविवार को दो मरीजों की मौत होने से परिजनों में चीत्कार मच गया.

कोरोना की दूसरी लहर में भी ऐसे मामले लगातार सामने आये थे ऐसे में डॉक्टरों की चिंता बढ़ गई है. सदर अस्पताल के डॉक्टर के अनुसार अस्पताल में इन दिनों ऑक्सीजन लेवल गिरने और फेफड़ों में संक्रमण से ग्रसित मरीज अधिक पहुंच रहे हैं. संक्रमण की वजह से सांस लेने में दिक्कत हो रही है. इलाज देर से शुरू होने की वजह से पूरे शरीर में संक्रमण फैल जा रहा है जिससे मरीज की मौत हो जा रही है.कहीं बिहार में तीसरी लहर की शुरुवात तो नहीं हो गई, ये चिंता अब सताने लगी है.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.