By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

मजदूर भी कोरोना महामारी के दौर में कोरोना योद्धा के रूप में कार्य कर रहे हैं: बादल

;

- sponsored -

मोटिया मजदूर भी कोरोना महामारी के दौर में कोरोना योद्धा के रूप में कार्य कर रहे हैं। उक्त विचार मौके पर पहुंचे कृषि मंत्री श्री बादल पत्रलेख जी ने कहा कि जो भी मजदूर अपना घर द्वार छोड़कर यहां मजदूरी में लगे हैं उनके लिए कॉपरेटिव व्यवस्था की जाएगी फ्री इंश्योरेंस ,बच्चों के लिए फ्री शिक्षा की बात सरकार से की जाएगी।

-sponsored-

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: मोटिया मजदूर भी कोरोना महामारी के दौर में कोरोना योद्धा के रूप में कार्य कर रहे हैं। उक्त विचार मौके पर पहुंचे कृषि मंत्री बादल पत्रलेख जी ने कहा कि जो भी मजदूर अपना घर द्वार छोड़कर यहां मजदूरी में लगे हैं उनके लिए कॉपरेटिव व्यवस्था की जाएगी फ्री इंश्योरेंस ,बच्चों के लिए फ्री शिक्षा की बात सरकार से की जाएगी। उक्त विचार रांची महानगर कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष संजय पांडे ने व्यक्त किया। पांडे ने कहा कि कोरोना के खिलाफ जंग में सबसे बड़ी आवश्यकता आम जनता को भोजन एवं राशन उपलब्ध कराना है  और इसमें मोटिया मजदूरों ने अहम भूमिका निभायी जिन्होंने अपनी जान की परवाह ना करते हुए भी कृषि बाजार प्रांगण में खाद्य सामग्रियों के गोदामों से विभिन्न क्षेत्रों में भेजने हेतु राशन एवं अन्य खाद्य सामग्री तथा दैनिक आवश्यकताओं की जरूरतों का सामान भेजने के लिए लोडिंग– अनलोडिंग का कार्य जारी रखा जिसके कारण गलियों की छोटी दुकानों से लेकर जन वितरण प्रणाली के तहत चलने वाले राशन केंद्रों तक राशन एवं अन्य खाद्य सामग्री की आपूर्ति निर्बाध रूप से जारी रही जिससे लोगों को लॉक डाउन के दौरान किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ा।

पांडे के निर्देशानुसार रांची महानगर कांग्रेस उपाध्यक्ष दीपक ओझा, उदय प्रताप ,संतोष सिंह, सुरेंद्र साहू, नितिन सिरमौर के नेतृत्व में कृषि बाजार प्रांगण पंडरा में लगभग ५०० मोटिया मजदूरों को गमछा पहनाकर तथा मास्क देकर सम्मानित किया गया एवं उनके कार्यों के प्रति उनका आभार प्रकट किया। इस अवसर पर महानगर उपाध्यक्ष दीपक ओझा ने कहा कि मोटिया मजदूरों के समाज के प्रति इस योगदान की जितनी भी सराहना की जाये कम है क्योंकि इस परिस्थिति में यदि इन्होंने अपनी सेवा जारी नहीं रखी होती तो अराजक माहौल उत्पन्न होने की संभावना हो जाती है। ओझा ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि जिस तरह से इन्होंने अपनी सेवा दी है उसे देखते हुए सरकार को अविलंब इनके स्वास्थ्य की जांच करानी चाहिए तथा सरकार को इनके स्वास्थ्य संबंधी सुरक्षा मानकों को ध्यान में रखकर आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने के साथ-साथ इनका जीवन रक्षक बीमा कराना चाहिये।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.