By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

कोरोना के बीच अब इंसेफेलाइटिस का कहर, मुजफ्फरपुर में 6 बच्चे पड़े बीमार

HTML Code here
;

- sponsored -

कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच मुजफ्फरपुर में बच्चों की जानलेवा बीमारी AES भी तेजी से पांव पसारने लगा है। मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच में लगातार बीमार बच्चों का पहुंचना जारी है। अब तक 8 बच्चों को भर्ती किया है जिसमे 6 में इंसेफेलाइटिस के लक्षण पाए गये हैं।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच मुजफ्फरपुर में बच्चों की जानलेवा बीमारी AES भी तेजी से पांव पसारने लगा है। मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच में लगातार बीमार बच्चों का पहुंचना जारी है। अब तक 8 बच्चों को भर्ती किया है जिसमे 6 में इंसेफेलाइटिस के लक्षण पाए गये हैं।

पिछले दो दिनों में एसकेएमसीएच के हॉस्पिटल में चार बीमार बच्चों को भर्ती कराया गया, जिसमें से तीन में AES की पुष्टि हो गई है जबकि एक बच्चे का जांच रिपोर्ट आना बाकी है। इन सभी बच्चों को एसकेएमसीएच के पेडिया आईसीयू में भर्ती कराया गया है जहां उनकी गहन चिकित्सा की जा रही है।

जो नए बच्चे एईएस की चपेट में आए हैं उनमें वैशाली की 3 साल की सोनाक्षी कुमारी, सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर की 4 साल की रिया और मोतिहारी जिले के पताही गांव के 3 साल के पीयूष राज शामिल हैं।पीयूष राज में हीट स्ट्रोक के लक्षण भी देखे गए हैं, इसके अलावा इन सभी बच्चों में सोडियम और ग्लूकोज की काफी कमी है। एसकेएमसीएच के पेडिया आईसीयू में फिलहाल एईएस से पीड़ित 6 बच्चों का इलाज चल रहा है।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

इस वर्ष बीमार होने पर एईएस के संदेह में अब तक कुल 8 बच्चों को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया है, जिनमें दो बच्चों में इसकी पुष्टि नहीं हो पाई। एसकेएमसीएच के अधीक्षक डॉ बीएस झा ने बताया है कि स्वास्थ्य विभाग को इससे संबंधित तमाम जानकारी रिपोर्ट बनाकर दे दी गई है।

डॉक्टरों ने बच्चों के अभिभावकों से अपील की है कि बच्चे को थोड़ा-थोड़ा करके बार-बार खाना खिलाते रहें और पानी अवश्य पिलाएं। बच्चे धूप में नहीं जाए इसका ध्यान गार्जियन को रखना पड़ेगा। इसके बाद भी अगर बुखार के साथ चमकी या उल्टी के लक्षण आते हैं तो उन्हें तत्काल स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाएं।

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.