By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

युवकों का जज्बा पड़ गया सब पर भारी, गंभीर परिस्थिति में किया बुजुर्गों के लिए यह अहम पहल

HTML Code here
;

- sponsored -

कोरोना महामारी के कारण लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो चूका है. एक के बाद एक मौत के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं. इसके साथ ही लोगों की परेशानियां भी बढ़ती जा रही है. वहीं इस गंभीर परिस्थिति में कई लोगों के जॉब चले गए तो कई लोगों की मदद के लिए आगे बढ़ रहे हैं.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव: कोरोना महामारी के कारण लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो चूका है. एक के बाद एक मौत के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं. इसके साथ ही लोगों की परेशानियां भी बढ़ती जा रही है. वहीं इस गंभीर परिस्थिति में कई लोगों के जॉब चले गए तो कई लोगों की मदद के लिए आगे बढ़ रहे हैं. कई ऐसे लोग हैं जो इस संकट भरी परिस्थिति में लोगों का साथ दे रहे हैं. इसी क्रम में एक खबर मुज़फ्फरपुर जिले से जुड़े 3 युवकों की है. जिन्होंने ऐसी स्थिति में बीड़ा उठाया है.

दरअसल, वे तीनों युवक क्राउड फंडिंग से पैसे जुटा कर अकेलापन झेल रहे बुजुर्गों तक भोजन पहुंचा रहे हैं. तीनों युवक की पहचान शहर के पंकज पटवारी, सचिन और निहाल के रूप में हुई है. जहां, मुज़फ़्फ़रपुर में बेटे ने बाप को सड़क पर छोड़ दिया था वहीं, जिले के इन युवाओं की पहल लोगों को सबक देने वाली है. शहर के तीन युवाओं ने मिलकर इस काम की शुरुआत की है. बीमारी के साथ अकेलेपन की मार झेल रहे इन बुजुर्गों को तीनों युवा मिलकर दो वक्त का खाना पहुंचा रहे हैं.

बता दें कि, तीनों युवाओं ने अपने दम पर इस पहल को शुरू किया है. कई अन्य लोगों ने भी इनकी पहल में मदद की. इन्होंने पूरे शहरी क्षेत्र में पहले दिन 17 बुजुर्गों के घरों तक खाना पहुंचाया, जो आज बढ़कर 75 से ऊपर हो चुका है. कोरोना महामारी के दौरान अब तक कई ऐसी तसवीरें सामने आई है जो दिल दहला देने वाली है. लेकिन, युवाओं के इस तरह के पहल से बुजुर्गों को काफी सहायता पहुंची.

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.