By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

दरभंगा में छिपे हैं 10 विदेशी नागरिक, जमातियों को छिपाने वालों पर FIR के आदेश

;

- sponsored -

दरभंगा जिला प्रशासन और पुलिस ने अब उन लोगों के खिलाफ सख्त रुख अपना रहा है, जो सरकार के आदेश को मानने में कोताही या लापरवाही बरत रहे हैं. दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) में तब्लीगी जमात में शामिल होने वालों के कोरोना पॉजिटिव आने की खबर सामने आते ही दरभंगा पुलिस भी अलर्ट हो गई है.

-sponsored-

-sponsored-

दरभंगा में छिपे हैं 10 विदेशी नागरिक, जमातियों को छिपाने वालों पर FIR के आदेश

सिटी पोस्ट लाइव : दरभंगा जिला प्रशासन और पुलिस ने अब उन लोगों के खिलाफ सख्त रुख अपना रहा है, जो सरकार के आदेश को मानने में कोताही या लापरवाही बरत रहे हैं. दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) में तब्लीगी जमात में शामिल होने वालों के कोरोना पॉजिटिव आने की खबर सामने आते ही दरभंगा पुलिस भी अलर्ट हो गई है. इस बीच जैसे ही एक विदेशी मुस्लिम धर्मगुरु के दरभंगा पहुंचने की सूचना मिली पुलिस तुरंत इसकी जांच में जुट गई. पुलिस सूत्रों के मुताबिक दरभंगा में 10 विदेशी नागरिकों के छिपे होने की सूचना है. अब इन विदेशियों को छिपाने वालों के खिलाफ एफआईआर करने का आदेश दिया गया है.

इतनी बड़ी संख्या में विदेशी नागरिकों के दरभंगा में होने के बावजूद न तो किसी ने इसकी सूचना पुलिस को दी और न ही दरभंगा पुलिस को इसकी भनक तक लगी. बताया जा रहा है कि ये सभी विदेशी नागरिक दरभंगा में कई दिनों तक न सिर्फ रहे, बल्कि अलग-अलग मस्जिदों में जाकर चोरी छिपे अपने अभियान को अंजाम देकर निकल गए. निजामुद्दीन की घटना के बाद प्रशासन गंभीर हुआ और अब पुलिस और जिला प्रशासन सभी 10 विदेशी नागरिक के साथ-साथ मरकज से लौटे लोगों की जानकारी जुटाने में लगा है.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

मामला सामने आते ही दरभंगा के एसएसपी बाबू राम ने मीडिया को बताया कि सभी 10 विदेशी नागरिक दरभंगा पहुंचे थे, जिनकी पूरी जानकारी मिल चुकी है. दरभंगा में इनके आने की सूचना किसी ने नहीं दी थी. ऐसे में जिन्होंने ने भी इन विदेशियों के रहने-ठहरने और खाने-पीने की व्यवस्था की थी, उन सभी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज़ की जाएगी. साथ ही सभी विदेशी नागरिकों के वीजा रद्द करने के लिए भी सरकार को लिखा जाएगा.

एसएसपी बाबू राम ने साफ शब्दों में निर्देश दिया कि निजामुद्दीन स्थित मरकज में हुए तब्लीगी जमात में शामिल होने वाले जितने भी लोग दरभंगा पहुंचे हैं, वे खुद कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच कराने सामने आएं. उन्होंने कहा कि ऐसे सभी लोग पुलिस और प्रशासन को सहयोग करें, ताकि बीमारी का संक्रमण नहीं फैले और उनका इलाज हो सके. एसएसपी ने कहा कि प्रशासन का सहयोग नहीं करनेवालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

कोरोना वायरस के संक्रमण (Coronavirus infection) के खतरों को देखते हुए बिहार सरकार अलर्ट है.गौरतलब है कि निजामुद्दीन मरकज के जमात में शामिल न सिर्फ ज्यादातर लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा रहे हैं, बल्कि मरकज से निकल कर लोग पूरे देश के अलग-अलग राज्य के विभिन्न जिलों में पहुंच गए हैं. इससे देशभर में अब कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की आशंका और बढ़ गई है.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.