By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पटना नाबार्ड के सहायक महाप्रबंधक के घर से 20 लाख रु. के गहने की चोरी

HTML Code here
;

- sponsored -

पटना के राजीव नगर  कॉलोनी में चोरी की एक बड़ी वारदात हुई है.खबर के अनुसार बिहार क्षेत्रीय कार्यालय में पदस्थापित नाबार्ड के सहायक महाप्रबंधक विवेक आनंद के घर में चोरी की बड़ी घटना हुई है.चोरों ने बुधवार की रात उनके घर के एक कमरे से लगभग 20 लाख के गहने और एक लाख कैश की चोरी कर ली है.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : पटना के राजीव नगर  कॉलोनी में चोरी की एक बड़ी वारदात हुई है.खबर के अनुसार बिहार क्षेत्रीय कार्यालय में पदस्थापित नाबार्ड के सहायक महाप्रबंधक विवेक आनंद के घर में चोरी की बड़ी घटना हुई है.चोरों ने बुधवार की रात उनके घर के एक कमरे से लगभग 20 लाख के गहने और एक लाख कैश की चोरी कर ली है. विवेक ने इस संबंध में राजीवनगर थाने में केस दर्ज कराया है. सहायक महाप्रबंधक का घर राजीवनगर रोड नंबर 8 सी में है. इधर घटना की जानकारी मिलने के बाद राजीवनगर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन की. पुलिस घटनास्थल के आसपास का सीसीटीवी कैमरा भी खंगाल रही है.

घटना की रात सहायक महाप्रबंधक अपने घर में ही थे. वे एक कमरे में सो रहे थे वहीं दूसरे कमरे की खिड़की के ग्रिल में लगा ताला खोलकर शातिर कमरे में दाखिल हुए. कमरे में रखे आलमीरा को खोला और लॉकर तोड़कर सारे सामान की चोरी कर ली.चोरों ने विवेक आनंद के घर से गले का हार, गले का चेन, मंगलसूत्र, सोने की चूड़ी, सोने का कंगन, चांदी का कटोरा, ग्लास, चम्मच, पायल, पनबट्‌टा आदि की चोरी की. उसी कमरे में सहायक महाप्रबंधक के ऑफिस का बैग रखा हुआ था. शातिर उसी बैग में ज्वेलरी और कैश रखकर फरार हो गए. पुलिस को उन्होंने बताया कि ये गहने उनकी पत्नी और मां के थे। सहायक महाप्रबंधक की पत्नी गुलजारबाग स्थित राजकीय महिला महा विद्यालय में सहायक प्राध्यापिका हैं.

सीसीटीवी के अनुसार तीन की संख्या में शातिर सहायक महाप्रबंध के घर में घुसे थे. सीसीटीवी फुटेज में तीन शातिर दिख रहे हैं. पुलिस की जांच में यह बात आई है कि चोरी करने के बाद शातिर कार में बैठकर फरार हो गए. तीनों शातिर लगभग ढाई बजे रात को कमरे में घुसे और एक घंटे में पूरा कमरा खंगाल दिया. शातिरों ने कमरा को अंदर से बंद कर दिया था.पुलिस का दावा है कि जल्द ही शातिरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

सहायक महाप्रबंधक का सात साल का इकलौता बेटा पिछले साल गुजर गया था. महाप्रबंधक इस बात का जिक्र करते हुए रुआंसे हो गए. उन्होंने कहा कि हम तो बेटे का जाने का गम भुला भी नहीं पाए थे कि शातिरों ने सबकुछ उड़ा लिया. उन्होंने बताया कि उनके घर के पीछे दो अर्धनिर्मित मकान है. जहां असामाजिक तत्वों का दिनभर जमावड़ा लगा रहता है. शातिर चोर उसी रास्ते घुसे और घटना को अंजाम दिया.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.