By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बेगूसराय में पिछले सात दिनों में 7 हत्याएं, पुलिस प्रशासन पर उठने लगे सवाल

बेखौफ बदमाशों ने की युवक की गोली मारकर हत्या

Above Post Content

- sponsored -

बेगूसराय में बेखौफ बदमाशों ने एक बार फिर एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना मुफस्सिल थाना क्षेत्र के रतनपुर बिशनपुर काली मंदिर के निकट की है। बताया जाता है कि मटिहानी थाना क्षेत्र के रामदीरी रामनगर वार्ड 7 निवासी नगीना सिंह का 35 वर्षीय पुत्र राजीव कुमार उर्फ गुजरा अपने परिजनों के साथ बुधवार की रात बेगूसराय बाजार आया था।

Below Featured Image

-sponsored-

बेगूसराय में पिछले सात दिनों में 7 हत्याएं, पुलिस प्रशासन पर उठने लगे सवाल

सिटी पोस्ट लाइव : बेगूसराय में बेखौफ बदमाशों ने एक बार फिर एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना मुफस्सिल थाना क्षेत्र के रतनपुर बिशनपुर काली मंदिर के निकट की है। बताया जाता है कि मटिहानी थाना क्षेत्र के रामदीरी रामनगर वार्ड 7 निवासी नगीना सिंह का 35 वर्षीय पुत्र राजीव कुमार उर्फ गुजरा अपने परिजनों के साथ बुधवार की रात बेगूसराय बाजार आया था। बाजार से लौटने के दौरान रास्ते में मंदिर दर्शन करने रूके थे। परिजनों ने बताया कि मृतक राजीव कुमार मंदिर के बाहर ही था और परिजन सब मंदिर के अंदर दर्शन करने गए थे तभी बाहर अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग करना शुरू कर दिया। जब तक परिजन कुछ समझ पाते तब तक अपराधी वहां से फरार हो गए।

परिजन जब बाहर निकले तो राजीव कुमार को मृत पाया देखा। परिजनों ने किसी से भी कोई विवाद या दुश्मनी की बात से इनकार किया है, वहीं घटना की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। बताते चलें कि मृतक अपराधिक प्रवृति का था जो कुछ दिन पूर्व ही जेल से बाहर आया था। जाहिर है कि पिछले 7 दिनों के भीतर बेगूसराय में बेखौफ बदमाश लगातार हत्या की घटना को अंजाम देकर पुलिस को खुली चुनौती दे रहे हैं। सात दिनों में  दो डबल मर्डर और एक महिला मुखिया की हत्या समेत  7 लोगों की हत्या की गई है, लेकिन पुलिस किसी भी मामले में कोई ठोस कार्रवाई अब तक नहीं कर पाई है जिससे पुलिस पर एक बड़ा सवाल उठ रहा है।

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

बेगूसराय से सुमित कुमार की रिपोर्ट

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.