By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

आईजी-डीआईजी के क्षेत्राधिकार का बिहार में नए सिरे से निर्धारण

- sponsored -

बिहार सरकार आईजी-डीआईजी के कार्यालयों का नए सिरे से पुनर्गठन कर दिया है. गृह विभाग द्वारा  मंगलवार को जारी संकल्प के अनुसार 15 अगस्त के दिन से यह नई व्यवस्था लागू हो जाएगी. जोन को खत्म कर पुलिस क्षेत्रों को पुनर्गठित करते हुए बड़े एवं महत्वपूर्ण क्षेत्रों में आईजी स्तर के पदाधिकारी होगें तैनात .

-sponsored-

आईजी-डीआईजी के क्षेत्राधिकार का बिहार में नए सिरे से निर्धारण

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार सरकार ने पुलिस महकमे की व्यवस्था में भारी फेरबदल कर दिया है. अब जहाँ आईजी तैनात होगें वहां डीआइजी नहीं होगें और जहाँ डीआइजी होगें वहां आईजी नहीं होगें.दरअसल, बिहार सरकार आईजी-डीआईजी के कार्यालयों का नए सिरे से पुनर्गठन कर दिया है. गृह विभाग द्वारा  मंगलवार को जारी संकल्प के अनुसार 15 अगस्त के दिन से यह नई व्यवस्था लागू हो जाएगी. जोन को खत्म कर पुलिस क्षेत्रों को पुनर्गठित करते हुए बड़े एवं महत्वपूर्ण क्षेत्रों में आईजी स्तर के पदाधिकारी पदस्थापित किए जाने का फैसला सरकार ने लिया है.

इस नयी व्यवस्था के अनुसार वर्तमान में कार्यरत्त 4 प्रक्षेत्रों-पटना,मुजफ्फरपुर,दरभंगा,एवं भागलपुर को समाप्त कर पुलिस क्षेत्र के रूप में पुनर्गठित किया गया है.

Also Read

-sponsored-

क्षेत्र—————–जिला—————आईजी-डीआईजी

पटना क्षेत्र——-पटना,नालंदा———आईजी

मगध क्षेत्र——गया ,औरंगाबाद,नवादा,जहानाबाद,अरवल——आईजी

शाहाबाद क्षेत्र—बक्सर,भोजपुर,रोहतास,कैमूर—डीआईजी

तिरहुत क्षेत्र—मुजफ्फरपुर,वैशाली,सीतामढ़ी,शिवहर—आईजी

चंपारण क्षेत्र—बेतिया,मोतिहारी और बगहा—डीआईजी बेतिया

सारण क्षेत्र—सारण,सिवान,गोपालगंज—डीआईजी छफरा

मिथिला क्षेत्र दरभंगा—दरभंगा,मधुबनी,समस्तीपुर—डीआईजी

कोशी क्षेत्र—सहरसा,सुपौल,मधेपुरा—डीआईजी

पूर्णिया क्षेत्र—पूर्णियां,किशनगंज,कटिहार,अररिया—आईजी

पूर्वी क्षेत्र भागलपुर—भागलपुर,बांका,नवगछिया—डीआईजी

मुंगेर क्षेत्र—मुंगेर,शेखपुरा,जमुई,लखीसराय—डीआईजी

बेगूसराय क्षेत्र—बेगूसराय,खगड़िया—डीआईजी

यानी 15 अगस्त से बिहार पुलिस की व्यवस्था में भारी परिवर्तन हो जाएगा.गौरतलब है कि कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए पुलिस मुख्यालय द्वारा लगातार पुलिस महकमे में भारी फेरबदल के साथ साथ दागी अधिकारियों की पहचान का काम चल रहा है. अबतक 400 दागी थानेदारों को थाने की जिम्मेवारी से मुक्त कर दिया गया है. ये दागी पुलिसवाले अब किसी थाने के इंचार्ज नहीं बन पायेगें.गौरतलब है कि देश में पहलीबार दरोगा और इंस्पेक्टर की तैनाती के लिए नियमावली बनाया गया है.उस नियमावली के अनुसार ही किसी पुलिस अधिकारी को थानेदार और इंस्पेक्टर बनाया जाएगा.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.