By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

छोटन सिंह की गिरफ्तारी और अपनी रिहाई को लेकर अनंत सिंह का लिपि सिंह से सवाल

फरार होने के बाद कैमरे के सामने बोले अनंत सिंह- हम भागे नहीं, बीमार दोस्त को देखने आए हैं.

- sponsored -

अनंत सिंह ने वीडियो जारी कर कहा है-“ जिस केस में मुझको लिपि सिंह ने बरी किया उसी में छोटन सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया.यह कैसा न्याय है..लिपि सिंह ने यह दिखाने के लिये किया कि हम न्याय करते हैं इसीलिए मुझे मुक्त कर दिया.क्यों कि बड़े केसों में मुझे न्यायालय से बरी कर दिया गया था.

छोटन सिंह की गिरफ्तारी और अपनी रिहाई को लेकर अनंत सिंह का लिपि सिंह से सवाल.

सिटी पोस्ट लाइव :पटना पुलिस की रिकॉर्ड में फरार चल रहे  मोकामा के बाहुबली विधायक अनंत सिंह का एक विडियो सामने आया है. बाहुबली विधायक अनंत सिंह ने वीडियो जारी कर एएसपी लिपि सिंह और पटना पुलिस पर फंसाने का आरोप लगाया है.अनंत सिंह ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए पूछा है-“ यह कैसा न्याय है कि जिस केस में वे मुख्य अभियुक्त थे उन्हें रिहा कर दिया गया जबकि धूसरे अभियुक्त छोटन सिंह को गिरफ्तार किया गया”.

अनंत सिंह ने वीडियो में कहा है-“ जिस केस में मुझको लिपि सिंह ने बरी किया उसी में छोटन सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया.यह कैसा न्याय है..लिपि सिंह ने यह दिखाने के लिये किया कि हम न्याय करते हैं इसीलिए मुझे मुक्त कर दिया.क्यों कि बड़े केसों में मुझे न्यायालय से बरी कर दिया गया था.इसलिए लिपि सिंह ने अपने को न्यायप्रिय दिखाने के लिये उस केस से बरी किया.जबकि छोटन सिंह को मेरे सरकारी आवास से गिरफ्तार कर लिया गया है.यह पूरी तरह से गलत है..जबकि हम उस केस में आदेश देने वाले थे और छोटन सिंह आदेश के पालकर्ता थे. तो जब आदेश देने वाला बरी कर दिया गया तो फिर छोटन सिंह को क्यों गिरफ्तार किया गया?

Also Read

-sponsored-

इस वीडियो में अनंत सिंह (Anant Singh) कह रहे हैं- “हम भागे नहीं हैं. अपने बीमार दोस्त को देखने आए हैं. 3-4 दिन में सरेंडर कर देंगे.सरेंडर से पहले मैं फ्लैट पर जाऊंगा. मीडिया से बात करने के बाद सरेंडर कर दूंगा”.

बिहार (Bihar) के मोकामा (Mokama) विधानसभा सीट से विधायक बाहुबली अनंत सिंह (Anant Singh) अपने घर से फरार होने के बाद पहली बार कैमरे के सामने आए हैं. अनंत सिंह ने अपना वीडियो जारी कर सफाई दी है. गौरतलब है कि विधायक अनंत सिंह के पैतृक गांव लदमा से एके-47 रायफल (AK-47) और हैंड ग्रेनेड (Hand Grenade) की बरामदगी के बाद पुलिस ने अनंत सिंह और पत्नी नीलम देवी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. शुक्रवार की आधी रात में पुलिस ने उनके घर पर छापा भी मारा लेकिन अनंत सिंह और उनकी पत्नी हाथ नहीं आये.

पटना पुलिस के अनुसार अनंत सिंह और नीलम देवी पर भारतीय दंड विधान की धारा 212 के तहत एक नया मुकदमा दर्ज किया गया है. बाढ़ एसएचओ के बयान के आधार पर सचिवालय थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है. छोटन सिंह को घर में पनाह देने के मामले में यह मामला दर्ज हुआ है.सूत्रों के अनुसार अपने वकीलों से सलाह मशविरा करने के बाद अनंत सिंह प्रेस कांफ्रेंस करने के बाद कोर्ट में सरेंडर करेगें. लेकिन पटना पुलिस उन्हें प्रेस कांफ्रेंस करने और स्वेच्छा से सरेंडर करने देने के मूड में नहीं है.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.