By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सेक्स रैकेट : पीड़िता ने लिया RJD विधायक का नाम! हो सकते हैं गिरफ्तार

Above Post Content

- sponsored -

जांच अधिकारी इंस्पेक्टर चंद्रशेखर गुप्ता ने आवेदन देकर कोर्ट से सीलबंद लिफाफे में दर्ज बयान की कॉपी ली और उसको एसपी कार्यालय को सौंप दिया. बताया जा रहा है कि पीड़िता ने कोर्ट में दिए अपने बयान में आरजेडी के एक विधायक का नाम लिया है.सूत्रों के अनुसार आरा पुलिस कोर्ट में गिरफ्तारी वारंट के लिए अर्जी देने जा रही है. तीन दिन पहले पीड़ित लड़की का बयान सोशल मीडिया में भी वायरल होने के बाद पुलिस की भूमिका पर भी उठ रहे थे सवाल .

Below Featured Image

-sponsored-

सेक्स रैकेट : पीड़िता ने लिया RJD विधायक का नाम! हो सकते हैं गिरफ्तार

सिटी पोस्ट लाइव : भोजपुर जिले के  आरा और पटना से जुड़े चर्चित सेक्स रैकेट मामले में RJD के एक विधायक (RJD MLA) के सर पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. पुलिस सूत्रों के अनुसार RJD के इस धनपशु विधायक को कभी भी गिरफ्तार (Arrest) किया जा सकता है. पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, नाबालिग पीड़िता (Minor Victim) ने धारा 164 के तहत दोबारा कोर्ट में दर्ज कराए अपने बयान में आरजेडी विधायक (RJD MLA) का नाम लिया है.

गौरतलब है कि इस मामले में जांच अधिकारी इंस्पेक्टर चंद्रशेखर गुप्ता ने आवेदन देकर कोर्ट से सीलबंद लिफाफे में दर्ज बयान की कॉपी ली और उसको एसपी कार्यालय को सौंप दिया. बताया जा रहा है कि पीड़िता ने कोर्ट में दिए अपने बयान में आरजेडी के एक विधायक का नाम लिया है.सूत्रों के अनुसार आरा पुलिस कोर्ट में गिरफ्तारी वारंट के लिए अर्जी देने जा रही है. हालांकि पीड़िता ने अपने बयान में विधायक पर सीधे आरोप लगाया है, इसलिए पुलिस बिना वारंट के भी गिरफ्तारी कर सकती है.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

गौरतलब है कि नाबालिग पीड़ि‍ता बीते 18 जुलाई को पटना में चल रहे सेक्स रैकेट के चंगुल से किसी तरह छूटकर भोजपुर पुलिस के पास पहुंची थी. पीड़ि‍ता ने बताया था कि उसे पटना में एक इंजीनियर और एक विधायक के आवास पर भेजा जाता था.आवास नंबर के आधार पर आरोप के घेरे में आए राष्‍ट्रीय जनता दल (आरजेडी) विधायक ने तब सफाई देते हुए सेक्‍स रैकेट में संलिप्‍तता से इनकार किया था, लेकिन गिरफ्तार सेक्‍स रैकेट संचालिका अनिता देवी ने लड़की को विधायक आवास पर भेजे जाने की बात स्वीकार की थी. इसके बाद करीब एक महीने तक शांत पड़ा रहा यह मामला पीड़िता के कोर्ट में दिए बयान के बाद फिर चर्चा में है.

तीन दिन पहले पीड़ित लड़की का बयान सोशल मीडिया में भी वायरल हो चूका है.इस बयान के बाद पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे थे. पुलिस पर ये आरोप लगने लगा था कि जब लड़की ने विधायक का नाम ले लिया है, उसके द्वारा किये जा रहे जुल्म को बयाँ कर रही है, फिर भी अबतक पुलिस ने कोई कारवाई क्यों नहीं की.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.