By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

तीर-धनुष, भाला और डंडे से लैस आदिवासी समाज ने रोका कोयला उत्पादन

HTML Code here
;

- sponsored -

धनबाद के मुराईडीह स्थित बीसीसीएल एरिया वन अंतर्गत आउट सोर्सिं ग माइनप कंपनी में सोमवार को बड़ी संख्या में आदिवासी महिला एवं पुरुष पारंपरिक हथियारों तीर-धुनष, लाठी और भाला से लैस होकर पहुंचे और कोयला उत्पादन रोक दिया।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, धनबाद: धनबाद के मुराईडीह स्थित बीसीसीएल एरिया वन अंतर्गत आउट सोर्सिं ग माइनप कंपनी में सोमवार को बड़ी संख्या में आदिवासी महिला एवं पुरुष पारंपरिक हथियारों तीर-धुनष, लाठी और भाला से लैस होकर पहुंचे और कोयला उत्पादन रोक दिया। इस दौरान उन्होंने कंपनी गेट के सामने बीसीसीएल के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

 प्रदर्शन कर रहे लोगों ने आउटसोर्सिंग कंपनी के एंट्री गेट को जाम कर दिया और कर्मियों को कंपनी परिसर में प्रवेश करने से भी रोक दिया। प्रदर्शन कर रहे रैयतों ने आरोप लगाते हुए कहा कि बीसीसीएल ने उनकी 220.81 एकड़ पर जमीन कब्जा कर उस पर उत्खनन व क्वार्टर निर्माण करवा रही है। 2015 से बीसीसीएल को इसे लेकर नोटिस भेजा जा रहा है लेकिन उनकी बात नहीं सुनी जा रही। मजबूरन आज रैयत कंपनी का काम बाधित करने पहुंचे। उन्होंने कहा कि बीसीसीएल ने उनकी जमीन पर आउटसोर्सिंग कंपनी माइनप को दे दी है। इसके लिए कंपनी को उन्हें मुआवजा देना होगा या फिर जमीन को खाली करना होगा। कंपनी का काम बाधित करने और पारंपरिक हथियार के साथ पहुंचने की सूचना पर मौके पर पहुंची बरोरा पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को लॉकडाउन का हवाला देकर समझा बुझाकर आंदोलन को समाप्त करवाया। इधर, आउटसोर्सिंग कंपनी के प्रबंधक ने कहा कि बीसीसीएल की ओर से उन्हें यह जगह दी गयी है। रैयत से उन्हें कोई मतलब नहीं है। रैयत की मांग और समस्या का निराकरण बीसीसीएल कंपनी की ओर से किया जाएगा, उन्हें इससे कोई लेना देना नहीं है।
;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.