By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पीएलएफआई के छह उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार

- sponsored -

रांची पुलिस ने पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएलएफआइ) के छह उग्रवादियों को हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार उग्रवादियों में विकास मिश्रा, दीपक पति, अरुण भगत, दिलिप सिंह, साबिर खान और मुमताज खान शामिल है।

-sponsored-

पीएलएफआई के छह उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: रांची पुलिस ने पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएलएफआइ) के छह उग्रवादियों को हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार उग्रवादियों में विकास मिश्रा, दीपक पति, अरुण भगत, दिलिप सिंह, साबिर खान और मुमताज खान शामिल है। इनके पास से एक देशी पिस्टल, एक देशी कट्टा,पांच गोलियां, काले रंग की एक महिन्द्रा एक्सयूवी, सात मोबाईल फोन और प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआइ का लेटर पेड बरामद किया है। ग्रामीण एसपी आशुतोष शेखर ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेस में बताया कि एसएसपी अनीश गुप्ता को सूचना मिली थी कि पीएलएफआइ के उग्रवादी संगठन से जुड़े कुछ अपराधकर्मी रांची एवं उसके आस-पास कही पर किसी घटना को अंजाम देने के लिए नगड़ी, ईटकी एवं रातू थाना क्षेत्र में भ्रमणशील देखे गये है। इसके बाद एक विशेष टीम का गठन कर डीएसपी मुखर डीएसपी बेड़ो के नेतृत्व में अलग-अलग जगहों पर छापेमारी शुरु की गयी। इसी क्रम में सोमवार देर रात संदेह के आधार पर काठीटांड चौक में एक एक्सयूवी वाहन को रोका गया। इसके बाद वाहन में सवार छह लोगों की तलाशी ली गयी। तलाशी के क्रम में दो हथियार, गोली और पीएलएफआइ का लेटर पेड बरामद किया गया। एसपी ने बताया कि पूछताछ में सभी उग्रवादियों ने बताया कि सभी खेलगांव थाना क्षेत्र के एक व्यक्ति के हत्या करने के उदेश्य से सभी रांची में एकत्र हुए थे। जिसका उसी क्षेत्र में एक व्यक्ति के साथ जमीन को लेकर विवाद है। उग्रवादियों को रातू क्षेत्र के रहने वाले मध्यस्थ के माध्यम से डेढ़ लाख रुपये यह सौदा तय हुआ था। उस व्यक्ति से मिलने जाने के क्रम में ही कांठीटांड चौक पर पुलिस ने चेकिंग के दौरान सभी को पकड़ लिया। पूछताछ में उग्रवादियों ने गुमला में पुल निर्माण का कार्य करा रहे मुंशी की हत्या करने सहित अन्य मामलों में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। छापेमारी टीम में डीएसपी मुख्यालय विजय कुमार सिंह, बेड़ो डीएसपी संजय कुमार, रातु मनोज कुमार राय, रामनारायण सिंह, मोहन कुमार, प्रकाश यादव, शंकर दयाल सिंह, शाह फैसल एवं क्यूआरटी टीम के सशस्त्र जवान शामिल थे।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.