City Post Live
NEWS 24x7

मद्य निषेध विभाग का बड़ा फैसला, बिहार में शराब पीने वाले नहीं भेजे जाएंगे जेल.

- Sponsored -

-sponsored-

- Sponsored -

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार के शराबियों के लिए बड़ी खबर है. शराब पीनेवाले अब जेल नहीं जायेगें.शराबियों को केवल ये बताना होगा कि उन्हें शराब कहाँ से मिली है.उनके द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर पुलिस और मध निषेध विभाग की टीम छापेमारी (Raid) करेगी, और यदि उनकी सूचना पर धंधेबाज पकड़े जाते हैं और शराब के अड्डे (Liquor Den) के बारे में जानकारी मिलती है तो ऐसे शराब पीने वालों को जेल नहीं भेजा जाएगा. यह अधिकार मद्य निषेध विभाग के अलावा पुलिस को भी होगा.

मद्य निषेध विभाग के आयुक्त कार्तिकेय धनजी ने सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इसकी जानकारी देते हुए कहा कि जेलों में शराब पीने वालों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह फैसला लिया गया है. दरअसल विभाग यह मानता है कि शराब एक सामाजिक बुराई है. इसलिए शराब पीने वाले अगर शराब के धंधेबाजों के बारे में जानकारी देते हैं तो यह समझा जाएगा कि वो इस सामाजिक बुराई से समाज को बचाना चाहते हैं. माना जा रहा है कि जिस तरह से राज्य के जेलों में शराब पीने वाले कैदियों की संख्या बढ़ी है उसके मद्देनजर मद्य निषेध विभाग ने यह बड़ा फैसला लिया है.

फरवरी माह में बिहार में शराब के विरुद्ध कुल 63,959 छापेमारी की गई है जिसमें मध निषेध विभाग द्वारा 20,464 और पुलिस विभाग के द्वारा 43,495 छापेमारी की गई है. शराबबंदी से संबंधित कुल 7,859 उत्पाद अभियोग दर्ज किए गए हैं जिसमें मद्य निषेध विभाग द्वारा 1,871 और पुलिस विभाग द्वारा 5,988 अभियोग दर्ज किया गया है. इसी महीने में 9,167 अभियुक्तों की गिरफ्तारी की गई है. इसमें मद्य निषेध विभाग ने 1,363 और पुलिस विभाग ने 7,804 लोगों की गिरफ्तारी की है. इसके अलावा, फरवरी माह में शराब से जुड़े मामलों में कुल 1,244 वाहन जब्त किए गए हैं. मद्य निषेध विभाग ने जहां 271 वाहन जब्त किये हैं. वहीं, पुलिस के द्वारा 953 वाहन जब्त किए गए हैं.

आयुक्त ने बताया कि हेलीकॉप्टर से गंगा दियारा में गंगा के ऊपर निगरानी रखी जा रही है. इसके अलावा तीन कंपनियों के द्वारा प्रदत 34 ड्रोन से पटना, शेखपुरा, सारण, कटिहार, भागलपुर, मुंगेर, बांका, खगड़िया, जमुई, लखीसराय, सीतामढ़ी, शिवहर, दरभंगा, मधुबनी, गोपालगंज, नवादा, समस्तीपुर, वैशाली, मुजफ्फरपुर से औरंगाबाद, सहरसा, अररिया, मधेपुरा जिला में कुल 1,977 छापेमारी की गई है जिसमें से 342 अभियोग दर्ज किए गए हैं. इस दौरान 1,48,910 किलो जावा महुआ और 3,028 5.71 लीटर शराब भी नष्ट किया गया है.

-sponsored-

- Sponsored -

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

-sponsored-

Comments are closed.