By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

मुआवजा, नौकरी व आरोपित की गिरफ्तारी का मिला आश्वासन, प्रदर्शन खत्म

;

- sponsored -

ट्रिपल मर्डर के मुद्दे को लेकर पिछले 11 घंटे से चल रहा प्रदर्शन रविवार शाम साढ़े पांच बजे समाप्त हो गया। प्रदर्शन को खत्म कराने के लिए रेलवे प्रशासन और जिला पुलिस प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

मुआवजा, नौकरी व आरोपित की गिरफ्तारी का मिला आश्वासन, प्रदर्शन खत्म

सिटी पोस्ट लाइव, रामगढ़: ट्रिपल मर्डर के मुद्दे को लेकर पिछले 11 घंटे से चल रहा प्रदर्शन रविवार शाम साढ़े पांच बजे समाप्त हो गया। प्रदर्शन को खत्म कराने के लिए रेलवे प्रशासन और जिला पुलिस प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी। शाम 4:00 बजे रामगढ़ एसपी प्रभात कुमार के नेतृत्व में मृतक के परिजनों और स्थानीय प्रबुद्ध लोगों के बीच बैठक हुई। बैठक में मृतक अशोक राम के परिवार के दो सदस्यों को रेलवे में नौकरी देने का आश्वासन दिया गया। इसके अलावा केंद्र व राज्य सरकार द्वारा इस घटना को लेकर मृतक आश्रितों को मुआवजा दिया जाएगा। एसपी प्रभात कुमार ने बताया कि अस्पताल में दो लोग इलाजरत हैं, उनका पूरा खर्चा रेल प्रशासन और जिला प्रशासन मिलकर उठाएगा। साथ ही रेलकर्मी अशोक राम को मिलने वाला पेंशन उनकी बेटी प्रियंका को दी जाएगी। इन चार मुद्दों पर आश्वासन मिलने के बाद मृतक के परिजनों ने अशोक राम, लीलावती देवी और वर्षा देवी के शव को रेलवे ट्रैक से हटाया। साथ ही सड़क जाम भी खत्म कर दिया। यह पूरा मामला 11 घंटे तक चला और इस दौरान बरकाकाना जंक्शन पर आनेवाले यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। एसपी प्रभात कुमार ने यह भी बताया कि अशोक राम की बेटी प्रियंका इस गोलीबारी की घटना की इकलौती चश्मदीद गवाह है इसलिए रामगढ़ पुलिस उसे पूरी सुरक्षा मुहैया कराएगी। यहां तक कि उसे जब भी कोर्ट या थाने जाने की जरूरत होगी, उसे पूरी सुरक्षा के साथ लाया जाएगा और फिर उसे उसके घर तक पहुंचाया जाएगा। बैठक में एसपी प्रभात कुमार के अलावा आरपीएफ के सीनियर कमांडेंट हेमंत कुमार, जीआरपी के डीएसपी, जीआरपी बरकाकाना थाना के प्रभारी रवि कुमार टूडू, पतरातु एसडीपीओ प्रकाश चंद्र महतो, आरपीएफ के असिस्टेंट कमांडेंट देवांश शुक्ला आदि मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि रामगढ़ जिला के बरकाकाना रेलवे कॉलोनी में रहने वाले आरपीएफ के जवान ने दूध देने संबंधी मामूली विवाद में अपनी पिस्टल से रेलवे पोर्टर अशोक राम के परिवार के पांच लोगों को गोली मार दी थी। इस वारदात में अशोक राम, उनकी पत्नी लीलावती देवी और उनकी गर्भवती बेटी वर्षा देवी की मौत हो चुकी है। जबकि घायल दो लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.