By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

हथियार लहराने के मामले में कांग्रेस उम्मीदवार केएन त्रिपाठी का हो सकता है लाइसेंस रद्द

;

- sponsored -

झारखंड विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण के मतदान के दिन 30 नवंबर को पलामू के कोशियारा बूथ पर दिनदहाड़े हथियार लहराने के मामले में डालटनगंज विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार केएन त्रिपाठी के हथियार के लाइसेंस को रद्द करने की तैयारी है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

हथियार लहराने के मामले में कांग्रेस उम्मीदवार केएन त्रिपाठी का हो सकता है लाइसेंस रद्द

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: झारखंड विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण के मतदान के दिन 30 नवंबर को पलामू के कोशियारा बूथ पर दिनदहाड़े हथियार लहराने के मामले में डालटनगंज विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार केएन त्रिपाठी के हथियार के लाइसेंस को रद्द करने की तैयारी है। पुलिस मुख्यालय ने इस संबंध में गृह विभाग को पत्राचार कर केएन त्रिपाठी के हथियार लाइसेंस के निलंबन की अनुशंसा की है। एडीजी ऑपरेशन मुरारी लाल मीणा ने गृह विभाग को लिखे पत्र में बताया है कि चैनपुर थाना क्षेत्र स्थित कोशियारा मध्य विद्यालय के बूथ पर कांग्रेस उम्मीदवार केएन त्रिपाठी व उपस्थित ग्रामीणों के बीच तनातनी व तोडफ़ोड़ की घटना घटी थी। इस संबंध में एसपी पलामू अजय लिंडा ने अपनी रिपोर्ट दी है, जिसमें बताया गया है कि इस घटना में दो अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की गई है। केएन त्रिपाठी के पास से लाइसेंसी हथियार को जब्त करने तथा लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई की अनुशंसा की गई है।

पुलिस मुख्यालय से एडीजी ऑपरेशन ने लिखा है कि एसपी की रिपोर्ट के आलोक में केएन त्रिपाठी के जब्त हथियार का लाइसेंस रद्द करने के मसले पर विधि सम्मत निर्णय लेते हुए आवश्यक कार्रवाई की जाए। अब गृह विभाग की अनुमति के बाद इसपर आगे की कार्रवाई होगी। उल्लेखनीय है कि मतदान के समय एक बूथ पर भाजपा उम्मीदवार के समर्थकों के खिलाफ हथियार लहराने वाले डालटनगंज विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार केएन त्रिपाठी ने सोमवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे से मिलकर पलामू के डीसी को हटाने की मांग की है। साथ ही उन्होंने दो मतदान केंद्रों 72 और 73 पर दोबारा मतदान कराने की मांग की थी। उन्होंने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को बताया कि डीसी वहां पक्षपात कर रहे थे। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी  ने नियमानुसार कार्रवाई करने का आश्वासन दिया था।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.