By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

मुंबई से लौटे लोगों की सूचना देने की वजह से, पीट-पीटकर कर दी हत्या

;

- sponsored -

दूसरे प्रांतों से बिहार आनेवाले की सूचना देना सीतामढी के एक युवक को बेहद महंगा पड़ गया ।बाहर से आने पर गुप्त नही रह सके,इसलिए पीट-पीट कर उस युवक की हत्या कर दी ।वाकई यह देश की पहली ऐसी हत्या है,जो लोगों की जान बचाने की गरज से की गई है ।

-sponsored-

-sponsored-

मुंबई से लौटे लोगों की सूचना देने की वजह से, पीट-पीटकर कर दी हत्या

सिटी पोस्ट लाइव : दूसरे प्रांतों से बिहार आनेवाले की सूचना देना सीतामढी के एक युवक को बेहद महंगा पड़ गया ।बाहर से आने पर गुप्त नही रह सके,इसलिए पीट-पीट कर उस युवक की हत्या कर दी ।वाकई यह देश की पहली ऐसी हत्या है,जो लोगों की जान बचाने की गरज से की गई है । मिली जानकारी के अनुसार बबलू नाम के युवक ने कोरोना कंट्रोल रूम को,मुंबई से गांव लौटे लोगों के बारे में सूचना दे दी ।इस सूचना पर मुंबई से लौटे युवकों को कोरोना वायरस की जांच करवानी पड़ी ।बस फिर क्या था, इसी खुन्नस में बबलू की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई । निसन्देह,यह देश की पहली और बेहद शर्मनाक घटना है ।

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव का रास्ता ढूंढ़ रही सरकार और समाज दोनों के लिए यह घटना आश्चर्य चकित करने वाली है कि आपकी रक्षा के लिए सूचना देने वाले को ही आपने मार डाला ।कोरोना वायरस की लड़ाई में सरकार की तरफ से स्पष्ट कहा गया है कि अगर कोई बाहरी व्यक्ति गांव में आता है,तो सबसे पहले उसे गांव के किसी स्कूल,या सरकारी भवन में रखा जायेगा । फिर उसकी जांच कराई जाएगी । अगर उसकी जांच नेगेटिव होगी, तो फिर उसे गांव में प्रवेश करने दिया जाएगा ।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर के मधैल गांव मैं जब दो युवक मुंबई से आते हैं, तो उसी गांव का बबलू कोरोना कंट्रोल रूम को सूचना देता है कि हमारे गांव में 2 लोग मुंबई से आए हैं ।यह बात उस गांव के सुधीर महतो और उसके भाई को पता चल जाती है ।उन्हें कोरोना वायरस की जांच करानी पड़ती है ।इसी बात से खुन्नस खाए,सुधीर महतो और उसके भाई ने मिलकर,बबलू को अकेला देखकर उसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी ।पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुट चुकी है ।

यह देश का पहला ऐसा गुनाह है कि कंट्रोल रूम को सूचना देने पर संबंधित व्यक्ति की हत्या कर दी जाती है ।अब पूरे सिस्टम को यह समझाने की नई जरूरत पड़ गयी है कि सूचना देने वाला हमारा दुश्मन नहीं बल्कि हमारा रक्षक है ।

सिटी पोस्ट के मैनेजिंग एडिटर मुकेश कुमार सिंह की स्पेशल रिपोर्ट

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.