By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पूर्व MLC पर दहेज के लिए बहू को प्रताड़ित करने का आरोप, FIR दर्ज

HTML Code here
;

- sponsored -

बिहार के मुजफ्फरपुर से एक बड़ी खबर आ रही है. तिरहुत शिक्षक सीट से एमएलसी रह चुके प्रोफेसर नरेंद्र प्रसाद सिंह  (Former MLC Professor Narendra Prasad Singh) के खिलाफ दहेज के लिए बहू को प्रताड़ित करने का मामला दर ज हो गया है.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार के मुजफ्फरपुर से एक बड़ी खबर आ रही है. तिरहुत शिक्षक सीट से एमएलसी रह चुके प्रोफेसर नरेंद्र प्रसाद सिंह  (Former MLC Professor Narendra Prasad Singh) के खिलाफ दहेज के लिए बहू को प्रताड़ित करने का मामला दर ज हो गया है. मुजफ्फरपुर के काजी महमदपुर थाने में दर्ज इस प्राथमिकी में दहेज के लिए बहू को प्रताड़ित करने, धोखा देकर अपने शादीशुदा बेटे से दोबारा शादी कराने और जान मारने की साजिश रचने के आरोप लगाया गया है.

पूर्व एमएलसी की बहू दिव्या थाने को दिए आवेदन में आरोप लगाया गया  है कि 2011 में उनके बेटे विकास के साथ शादी हुई.उसके पहले से शादीशुदा  होने की  बात  छिपायी गयी. बाद में उसे एक बेटी हुई. इसके बाद विकास ने बिजनेस में विस्तार के लिए दिव्या पर मायके से 50 लाख रुपये लाने का दबाव बनाने लगा. पैसे की व्यवस्था नहीं होने पर पूरा परिवार उसे प्रताड़ित करता रहा. अपने आवेदन में दिव्या ने बताया है कि विकास का पहली पत्नी के साथ भी विवाद चल रहा है. लेकिन शादी के वक्त इन तमाम तथ्यों को छिपाया गया था.

दिव्या ने अपनी सास और अपने पति पर भी ससुर के राजनीतिक रसूख के बल पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है.गौरतलब है कि इससे पहले दिव्या ने जिले के महिला थाने में 11 नवम्बर को अपने ससुर पति और सास के खिलाफ दहेज प्रताड़ना का आवेदन दिया था. लेकिन, दिव्या का आरोप है कि राजनीतिक प्रभाव में केस दर्ज नहीं हुआ. दिव्या फिलहाल पति से अलग मायके में रह रही है.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

इधर एमएलसी के बेटे विकास ने बताया कि उसने भी केस के लिए आवेदन दिया था पर कार्रवाई नहीं हुई. विकास ने अपनी पत्नी पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं पर पूर्व एमएलसी ने बात नहीं की. इस मामले में सिटी एसपी नीरज कुमार सिंह ने कांड दर्ज होने की पुष्टि की है. उन्होंने बताया है कि पुलिस छानबीन कर कार्रवाई करेगी.

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.