By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सदन में बढ़ते अपराध पर हंगामा, बिक्रम में जनता कर रही थी पुलिसवालों का सम्मान

- sponsored -

-sponsored-

सदन में बढ़ते अपराध पर हंगामा, बिक्रम में जनता कर रही थी पुलिसवालों का सम्मान

सिटी पोस्ट लाइव : बढ़ते अपराध को लेकर नीतीश सरकार विपक्ष के निशाने पर है. हर रोज विपक्ष कानून व्यवस्था को लेकर सदन के बाहर भीतर प्रदर्शन कर रहा है लेकिन जनता पुलिस का सम्मान करने लगी है. सम्मान भी ऐसे वैसे नहीं बल्कि सड़क पर फुल माला पहनाकर. दरअसल, अपराधिक वारदातें तो होती ही रहती हैं लेकिन पुलिस कभी कभी अपना काम ठीक से करती है. और जब वह अपना काम ठीक से करने लगे तो जनता उसकी वाहवाही करने में भी कोई कंजूशी नहीं करती. एक ऐसा ही मामला पटना जिले में सामने आया है, जहाँ के लोगों ने अपराधियों के खिलाफ कारवाई करनेवाले पुलिसकर्मियों का स्वागत फूल माला से किया.

सिटी पोस्ट लाइव के संवाददाता श्रीमान के अनुसार पटना से सटे विक्रम में पुलिस के एक एक्शन से लोग इतने खुश हुए कि उनका बीच चौराहे पर माला पहनाकर स्वागत किया गया. दरअसल बिक्रम में बापजी और महाकाल गैंग का आतंक कायम था. रंगदारी से दुकानदार त्रस्त थे. लेकिन पुलिस ने इस गैंग के पांच प्रमुख अपराधियों को धर दबोचा है. यहाँ के दुकानदारों ने पांच शातिर बाद्माशों की गिरफ्तारी से राहत की सांस ली है. बिक्रम पुलिस ने इलाके का आतंक बापजी और महाकाल गैंग के पांच अपराधियों को गिरफ्तार कर व्यापारियों के मन से भय समाप्त कर दिया है.

Also Read

-sponsored-

बिक्रम के दुकानदार रंगदारी मांगने वाली घटनाओं से इतने परेशान थे कि जैसे ही रंगदारी माँगनेवाले गंग के अपराधी की गिरफ्तारी की खबर आई सब लोग उन्हें देखने थाने पहुँच गए. दरअसल, उन्हें विशवास नहीं हो रहा था कि पुलिस ईन बाद्माशों को गिरफ्तार भी कर सकती है.लोग उन्हें देखने  थाना के पास उमड़ पड़े. पुलिस ने जनता को भरोसा दिलाने के लिए भेजने से पहले पकडे गए अपराधियों का जनता के बीच परेड कराया ताकि उनका भय समाप्त हो सके. लोगों ने पुलिस के प्रति आभार प्रकट किया और बिक्रम के शहीद चौक पर पालीगंज डीएसपी मनोज पांडेय और बिक्रम थानाध्यक्ष को माला पहनाकर सम्मानित भी किया.

स्थानीय दुकानदारों ने बताया कि पिछले डेढ़ माह से बापजी और महाकाल गैंग द्वारा रंगदारी की मांग से बिक्रम बाजारवासी त्रस्त थे. यह गैंग डेढ़ दुकानदारों को फ़ोन कर या पर्चा चिपकाकर रंगदारी की मांग करता था. स्थानीय पुलिस को सूचना देने के बाद भी अपराधी बाजारों में रंगदारी को लेकर दहशत बना रहे थे.

बिक्रम व्यवसायिक एकता संघ के सचिव एवम पूर्व मुखिया तनवीर अहमद नियाज़ी ने बताया कि इनके रंगदारी मांगने का अलग तरीका था. बापजी गैंग के गुर्गे पहले दुकानदारों के पास जाते और  अपने मोबाइल से जेल से बात करवाने की बात कह कर रंगदारी की मांग करते थे. स्थानीय बाजारवासियों का मानना है कि अब इस गैंग के गुर्गों की गिरफ्तारी के बाद सब कुछ शांत है.जाहिर है पुलिस केवल गाली ही नहीं सुनती बल्कि अछा कामर जनता  के मान सम्मान का हकदार भी बन जाती है.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.