By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

हिंदू संगठनों ने 70 गोवंश पशु को पकड़ा, प्रशासन ने जिम्मेनामा पर पशुओं को स्थानीय लोगों को सौंपा

- sponsored -

रांची के जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के लटमा सिंह रोड के पास हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं  और स्थानीय लोगों ने लगभग 70 की संख्या में प्रतिबंधित गोवंश पशु को पकड़ा।

-sponsored-

हिंदू संगठनों ने 70 गोवंश पशु को पकड़ा, प्रशासन ने जिम्मेनामा पर पशुओं को स्थानीय लोगों को सौंपा
सिटी पोस्ट लाइव, रांची: रांची के जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के लटमा सिंह रोड के पास हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं  और स्थानीय लोगों ने लगभग 70 की संख्या में प्रतिबंधित गोवंश पशु को पकड़ा। घटना गुरुवार अहले सुबह की है। हालांकि पशु तस्कर भागने में सफल रहे। स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। थाना प्रभारी अनूप कर्मकार मौके पर पहुंचे और पशुओं को गोशाला जगह न होने पर स्थानीय लोगों के बीच जिम्मेनामा पर पशुओं को सौंप दिया। स्थानीय लोगों का कहना है कि धुर्वा और जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र में रात के अंधेरे में पशु तस्कर प्रतिबंधित पशुओं को ले जाते हैं। अगर पुलिस ठीक से कार्रवाई करे तो इस पर लगाम लग सकती है। मौके पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के रांची महानगर के कार्यवाह धनंजय, भैरो सिंह, अमन सिंह, लाल प्रभुनाथ शाहदेव, रामराज, दिग्विजय नाथ शाहदेव, सुभाष नाथ और अरुण राजवार सहित कई लोग मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि झारखंड में गोवंश हत्या प्रतिषेध अधिनियम 2005 में ही लागू हुआ था। अधिनियम को मंजूरी मिले 14 साल हो गए। बावजूद इसके झारखंड में पशु तस्करी पर रोक नहीं लग पा रही है। झारखंड के लोहरदगा, रांची, पलामू, चतरा, धनबाद, कोडरमा, जमशेदपुर, गोड्डा, पाकुड़, जामताड़ा, गिरिडीह, लातेहार और साहिबगंज जिले से पशु तस्करी होती है। हमेशा जिलों में पशु पकड़े भी जाते हैं लेकिन सरगना पकड़ा नहीं जाता है। इस दौरान कुछ लोग पकड़े भी जाते हैं तो वह कुरियर के तौर पर गायों को पहुंचाने वाले होते हैं।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.