By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पुलिस और खनन पदाधिकारी ने सख्ती बरती, तो राजनीति भी खूब हुई

;

- sponsored -

रामगढ़ जिले में बालू लदे ट्रैक्टर पर पुलिस और खनन पदाधिकारी ने सख्ती बरती, तो राजनीति भी खूब हुई। पिछले एक सप्ताह से लगातार बयानबाजियों का दौर जारी है। गोला, अरगड्डा, हेसला रजरप्पा, रामगढ़ के इलाकों में बालू लदे कई ट्रैक्टरों को पुलिस और खनन विभाग की संयुक्त टीम ने पकड़ा है।

-sponsored-

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, रामगढ़: रामगढ़ जिले में बालू लदे ट्रैक्टर पर पुलिस और खनन पदाधिकारी ने सख्ती बरती, तो राजनीति भी खूब हुई। पिछले एक सप्ताह से लगातार बयानबाजियों का दौर जारी है। गोला, अरगड्डा, हेसला रजरप्पा, रामगढ़ के इलाकों में बालू लदे कई ट्रैक्टरों को पुलिस और खनन विभाग की संयुक्त टीम ने पकड़ा है। उन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज हुई है। साथ ही कई ट्रैक्टरों को फाइन लगा कर छोड़ा गया है। इस बीच 19 मई को डीजीपी द्वारा जारी किए गए आदेश को ढाल बनाकर बालू तस्करों द्वारा इसे राजनीतिक रंग दिया गया। डीजीपी द्वारा घरेलू निर्माण को लेकर ढोए जा रहे वस्तुओं पर पुलिस द्वारा रोक न लगाए जाने संबंधी जारी की गई चिट्ठी खूब वायरल की गई।
पुलिस और खनन पदाधिकारी ने सख्ती बरती, तो राजनीति भी खूब हुई
ट्विटर, फेसबुक और व्हाट्सएप पर इसे आधार बनाकर पुलिस विभाग की किरकिरी की गई। शनिवार को गोला निवासी भोला कुमार दांगी के द्वारा एक बार फिर इस मामले को लेकर ट्वीट किया गया। रांची जिले के मुरी थाना, रामगढ़ जिले के बरलांगा और रामगढ़ थाना पर बालू लदे ट्रैक्टरों से पैसे की उगाही करने का आरोप लगाया गया। डीजीपी ने इस मामले को संज्ञान में लिया और तत्काल रामगढ़ एसपी को रिपोर्ट पेश करने को कहा। डीजीपी के आदेश पर  रामगढ़ एसपी प्रभात कुमार ने अपनी सफाई जारी की। उन्होंने कहा कि निर्माण सामग्री के ढुलाई वाले वाहन से जबरन पैसा लेने का कोई मामला संज्ञान में नहीं आया है। जाँच के क्रम में पता चला की आवेदक का एक ट्रक अवैध बालू की ढुलाई करते हुये पकड़ा गया था। जिसे आवश्यक करवाई हेतु थाना ले जाया गया था। उक्त ट्रक पर डीएमओ एवं डीटीओ के द्वारा फाइन किया गया है।

 

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.