By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

जाली नोटों के साथ भारत-नेपाल बॉर्डर पर रंगे हाथ गिरफ्तार हुआ तस्कर

;

- sponsored -

कमांडेंट प्रियब्रत शर्मा ने बताया कि उसे पश्चिम चंपारण के सिकटा के समीप पिलर संख्या 409/54 के पास पकड़ा गया. उसकी पहचान आताउल के 58 वर्षीय पुत्र अफरोज आलम के रूप में हुई है. उसके पास से भारतीय दो हजार रुपये के आठ व पांच सौ के 47 सहित भारी मात्रा में अन्‍य जाली भारतीय करेंसी बरामद की गई.

-sponsored-

-sponsored-

जाली नोटों के साथ भारत-नेपाल बॉर्डर पर रंगे हाथ गिरफ्तार हुआ तस्कर

सिटी पोस्ट लाइव : भारत-नेपाल बॉर्डर न सिर्फ तस्करी के लिए बल्कि जाली नोटों की तस्करी के लिए भी सबसे सेफ जगह बनता जा रहा है. लगातार ख्‍ाुली सीमा से होकर जाली भारतीय करेंसी भारत में लाकर खपाए जा रहे हैं. जाली भारतीय करेंसी को पाकिस्‍तान से भाया नेपाल भारत में लाया जा रहा है. संगठित रैकेट द्वारा इस काम को अंजाम दिया जाता है. इसी क्रम में सोमवार को इसका एक गुर्गा भारी मात्रा में जाली नोट के साथ गिरफ्तार किया गया है. जानकारी के अनुसार पनटोका एसएसबी 47वीं बटालियन के जवानों ने जाली भारतीय नोटों एक अधेड़ को गिरफ्तार किया है.

कमांडेंट प्रियब्रत शर्मा ने बताया कि उसे पश्चिम चंपारण के सिकटा के समीप पिलर संख्या 409/54 के पास पकड़ा गया. उसकी पहचान आताउल के 58 वर्षीय पुत्र अफरोज आलम के रूप में हुई है. उसके पास से भारतीय दो हजार रुपये के आठ व पांच सौ के 47 सहित भारी मात्रा में अन्‍य जाली भारतीय करेंसी बरामद की गई. उससे सुरक्षा एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं. पकडे गए तस्कर ने ये बात स्वीकार की है कि नेपाल से भारतीय और नेपाली जाली नोट लेकर आ रहा था. सुरक्षा एजेंसियों को आशंका है कि वह सीमावर्ती बाजार में भारी मात्रा में जाली नोट खपाने की साजिश कर रहा था.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.