By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहार के बड़े नेता पर लगा अपने ही दामाद के अपहरण का आरोप, सकुशल वरामद

रवि उज्जवल ने अपने ससुर पर अपना अपहरण करवा कर हत्या की योजना बनाने का लगाया आरोप

- sponsored -

सिटी पोस्ट लाइव : पटना में अपहरण के हाई प्रोफाइल मामले का खुलासा हो गया है. मुंगेर जिले के नयारामनगर थाने की पुलिस ने पटना के बोरिंग रोड स्थित शिवपुरी कॉलोनी के अपहृत रवि उज्ज्वल, पिता रामजी सिंह को भागलपुर पटना रोड स्थित चंदनपुर के हनुमान मंदिर के पास से गुरुवार को खोज निकाला है. अपहरणकर्ता चंदपुरा के पास बोलेरो से उतारकर अपहृत रवि की गला रेत कर हत्या कर देना चाहते थे. अपहर्ता को संदेह हुआ कि कोई उसका पीछा कर रहा है तो उसने रवि को लग्जरी गाड़ी से सड़क के किनारे फेंक दिया. रवि का मुंह कपड़ा से और हाथ गमछा से बंधा हुआ था. रवि उज्ज्वल छात्र राष्ट्रीय लोक समता पार्टी  यानी केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष हैं.

अपहृत छात्र रालोसपा नेता ने बताया कि कुछ अपहर्ताओं ने 25 अगस्त को शिवपुरी के पास से उसका अपहरण कर लिया था जिसके बाद उसे एक फ्लैट में रखा गया था. फ्लैट में उसे हाथ-पैर बांध कर रखा जाता था और उसे टॉर्चर किया जाता था. उन्होंने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने 30 तारीख के बाद से उसे खाना-पीना देना बंद कर दिया. अपहरणकर्ता ने हत्या की नीयत से हाथ-पैर बांध कर और मुँह में कपड़ा बांध कर 5 सितम्बर को उसे एक बोलेरो गाड़ी में सीट के नीचे छुपाकर दूसरी जगह लेकर जा रहे थे.

रवि उज्ज्वल ने बताया कि उनके ससुर रालोसपा के प्रदेश महासचिव सत्यानंद दांगी अपहरण कराकर उनकी हत्या करवाना चाहते थे. रवि ने बताया की दांगी की बेटी रेणुका से हमारा प्रेम-प्रसंग चल रहा था और 30 अगस्त 2017 को पटना कोर्ट में हम दोनों ने शादी कर ली. इस शादी से हमारे ससुर एवं उसके परिवार के लोग खुश नहीं थे. उन्होंने कहा कि शादी के कुछ महीने बीत जाने के बाद जब मामला शांत हो गया तो वो अपने ससुर के घर फुलवारी शरीफ गए तो ससुर ने नहीं मिलने दिया. अपहृत नेता ने बताया कि 25 अगस्त को शिवपुरी के पास सड़क किनारे बोलेरो लेकर खड़े करीम नामक व्यक्ति ने कहा कि दांगी जी मिलना चाहते हैं. रवि उज्ज्वल बोलेरो में बैठ गए जिसके बाद उन लोगों ने उनका मोबाइल छीन लिया और आंखों पर पट्टी बांधकर मुझे एक फ्लैट में रख दिया. अपहरणकर्ताओं के पास कई हथियार थे. उन्होंने बताया कि अपहरणकर्ताओं में करीम मुन्ना और अंसारी शामिल थे.पीड़ित ने खुलासा किया कि अंसारी उसे बहुत टॉर्चर करता था और सिगरेट जलाकर उसके शरीर को दागता था.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.