By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहार के जिले की बेटियों का प्रधानमन्त्री को पत्र – रुकवाएं फ़र्जी शादी-ट्रैफिकिंग

;

- sponsored -

बिहार की बेटियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फ़र्जी शादी और ट्रैफिकिंग को रुकवाने के लिए पत्र लिखा है. ख़बरों की माने तो लगभग 500 लडकियां जोकि 18 साल से कम उम्र की है, वे सभी ने पत्र को लिखा है.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव: बिहार की बेटियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फ़र्जी शादी और ट्रैफिकिंग को रुकवाने के लिए पत्र लिखा है. ख़बरों की माने तो लगभग 500 लडकियां जोकि 18 साल से कम उम्र की है, वे सभी ने पत्र को लिखा है. दरअसल बिहार के सिमांचल और कोसी इलाके के गाँव में रहने वाली लड़कियों के माता-पिता कुछ रूपए के लिए लालच में आकर उनकी फ़र्जी शादी करवा देते हैं फिर लड़का उनको दुसरे राज्यों में ले जाते हैं. इस प्रकार वे लडकियां मानव तस्करों का शिकार बन जाती हैं.

इसके विरोध में कटिहार, अररिया, किशनगंज और सुपौल जिले की लगभग 500 लड़कियों ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख शिकायत करने के साथ ही विवाह का पंचायत स्तर पर रजिस्ट्रेशन कराने की मांग की है. सूत्रों के मुताबिक, लड़कियों की झूठी शादी करवाने के बाद कई सालों तक उनका कुछ अता पता नहीं होता है. गाँव में दलाल चुपके से शादी करवा देते हैं और फिर मानव तस्कर दुसरे राज्यों में ले जाकर उनका देह व्यापार करते हैं.

ऐसे मामले के लिए युवतियों की टीम ने बिहार विधानसभा चुनाव को ले कर यह मुहीम शुरू की है कि जितने भी प्रत्याशी वोट मांगने के लिए गाँव आ रहे हैं उनको वे लडकियां शपथ-पत्र दे रही हैं जिसके अनुसार चुनाव जितने के बाद प्रत्याशी बेटियों का अधिकार और संरक्षण के लिए विधानसभा में बात रखने के साथ ही शादी रोकने को लेकर नीतियाँ भी बनायेंगे.

;

-sponsored-

Comments are closed.