City Post Live
NEWS 24x7

रातों रात करोड़पति बने शराब माफिया समर घोष गिरफ्तार, पुलिस के सामने खोले बड़े राज

-sponsored-

-sponsored-

- Sponsored -

सिटी पोस्ट लाइव : पूर्णिया पुलिस के हाथ सबसे बड़ा शराब माफिया लग गया है. अवैध शराब के धंधे से रातों रात करोड़पति बने समर घोष ने पुलिस के सामने शराब के अवैध कारोबार से जुड़े की अहम् राज खोल दिया है. उसके अनुसार इस कारोबार से मधु मोहन डे, संजय साह, मिथुन, समितुल्ला और शराब के अवैध धंधे का कारोबारी मुर्शीद का भतीजा उसकी टीम में शामिल था. समर घोष ने यह भी बताया कि डेढ़ साल पहले ही उसने यह काम सीखा और रातोंरात करोड़पति बन गया. समर घोष ने यह भी बताया कि पूर्णिया सदर थाना, कटिहार जिले का कदवा और पोठिया थाना के साथ सुपौल जिले तक उसका कारोबार फैला हुआ था.

बिहार में शराब की सप्लाई करने वाले माफियाओं में पश्चिम बंगाल के रहने वाले मुर्शीद और समर घोष इन दोनों का ही नाम टॉप लिस्ट में है. हाल में ही बिहार पुलिस के हत्थे चढ़ा समर घोष लंबे दिनों से पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहा था. उसे दरभंगा, सुपौल, कटिहार, समस्तीपुर और पूर्णिया की पुलिस खोज रही थी. इन जिलों उसके खिलाफ लगभग एक दर्जन से ऊपर मामले दर्ज हैं. आखिरकार समर घोष को पूर्णिया पुलिस ने बीते 6 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया. समर घोष के बारे में जो जानकारी सामने आई है उसके अनुसार पहले वह सब्जी बेचने वाला था जिसने शराब के अवैध धंधे से करोड़ों की कमाई की. समर घोष ने पूर्णिया पुलिस के सामने इस धंधे के बारे में कई राज उगले हैं.

समर घोष ने पुलिस को बताया कि वह दालकोला में रहकर शराब की खेप भेजता था. इस बीच पुलिस दबिश बढ़ने पर वह झारखंड के रास्ते शराब की खेफ भेज रहा था. समर बंगाल के उत्तर दिनाजपुर जिले के रटहर दानीगाछी हाउसा का रहने वाला है. समर घोष दालकोला और उसके आसपास के जिलों के शराब माफियाओं को अपनी तरफ से संरक्षण भी दे रहा था. उसने बताया कि मधु मोहन डे के अलावा संजय साह, मिथुन, मधु मोहन डे, समितुल्ला और शराब के अवैध धंधे का कारोबारी मुर्शीद का भतीजा उसकी टीम में शामिल था. समर घोष ने यह भी बताया कि डेढ़ साल पहले ही उसने यह काम सीखा और रातोंरात करोड़पति बन गया. समर घोष ने यह भी बताया कि पूर्णिया सदर थाना, कटिहार जिले का कदवा और पोठिया थाना के साथ सुपौल जिले तक उसका कारोबार फैला हुआ था.

समर घोष ने पुलिस के सामने कान पकड़ते हुए यह भी कहा कि अब वह कभी शराब का धंधा नहीं करेगा. बिहार पुलिस का दावा है कि इस शराब माफिया की गिरफ्तारी एक बड़ी चुनौती थी. समर घोष विदेशी शराब के साथ-साथ नकली शराब और स्प्रीट की भी सप्लाई बिहार में कर रहा था. जब बंगाल बॉर्डर पर बिहार पुलिस ने सख्ती बढ़ाई तो इसने शराब की सप्लाई का रूट बदल दिया था. अपनी खेप को झारखंड के रास्ते बिहार में भेजने लगा था. शराब सप्लाई के गोरखधंधे में इसने एक बड़ा सिंडिकेट खड़ा कर दिया है. जिसमें बिहार और बंगाल के शराब माफिया जुडे़ हैं.

समर घोष के खिलाफ बिहार के 5 जिलों में कुल 8 FIR दर्ज हैं. गिरफ्तार किए जाने के बाद इससे लंबी पूछताछ की गई, जो अभी जारी है. पुलिस का मानना है कि इसके पकड़े जाने से बंगाल के साथ-साथ झारखंड और उत्तर-पूर्व के राज्यों से होने वाली शराब के अवैध कारोबार के उपर बड़ा असर पड़ेगा. बिहार के अंदर अवैध तरीके से शराब की सप्लाई में कमी आने की पूर्ण संभावना है. पूर्णिया पुलिस और मद्य निषेध विभाग पटना की संयुक्त कार्रवाई में पुलिस के हत्थे चढ़ा शराब का बड़ा माफिया समर घोष नकली शराब के निर्माण और सप्लाई कर ही चंद दिनों में सब्जी विक्रेता से करोड़पति बन गया था. पूर्णिया के एसपी दयाशंकर के मुताबिक समर घोष से पूछताछ में पुलिस को कई अहम् सुराग मिले हैं. पुलिस उसके अन्य शागिर्द और बड़े शराब माफियाओं की गिरफ्तारी की कोशिशों में लगी है.

एसपी के अनुसार पिछले कुछ दिनों में पुलिस ने मद्य निषेध विभाग पटना के सहयोग से कई बड़े शराब माफियाओं को गिरफ्तार किया है, जिसमें मुर्शीद, विश्वजीत सरकार, कलाम और समर घोष जैसे शराब माफिया शामिल हैं. बताया जाता है कि समर घोष अय्याश प्रवृति का व्यक्ति है. शराब के धंधे में अचानक करोड़पति बना समर घोष अक्सर अपने साथियों को पार्टी देता रहता था. इसी पार्टी के दौरान पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. वह अक्सर हवाई यात्रा भी किया करता था. पूर्णिया के एसपी दयाशंकर ने गिरफ्तारी के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि स्पेशल टीम लगातार शराब के कारोबार पर नजर ऱखे हुई है. बंगाल से सटे होने के कारण पूर्णिया के दालकोला चेक पोस्ट पर सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं. दालकोला चेक पोस्ट के साथ-साथ सात जगहों पर 24 घंटे पुलिस की स्पेशल टीम निगरानी करती है,

-sponsored-

- Sponsored -

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

- Sponsored -

Comments are closed.