By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

चुनाव जीतने के लिए चल रही थी शराब पार्टी, पकड़े गये सत्ताधारी दल के कई नेता

HTML Code here
;

- sponsored -

बिहार में पंचायत चुनाव में जीत हासिल करने के लिए मुखिया जी हर तरह के हथकंडे का इस्तेमाल कर रहे हैं.नोट के बदले वोट खरीदने की तैयारी जोर शोर से जारी है. मुखिया जी अपने वोटरों को लुभाने के लिए उन्हें इस शराबबंदी में भी शराब-कबाब पार्टी की व्यवस्था कर रहे हैं.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार में पंचायत चुनाव में जीत हासिल करने के लिए मुखिया जी हर तरह के हथकंडे का इस्तेमाल कर रहे हैं.नोट के बदले वोट खरीदने की तैयारी जोर शोर से जारी है. मुखिया जी अपने वोटरों को लुभाने के लिए उन्हें इस शराबबंदी में भी शराब-कबाब पार्टी की व्यवस्था कर रहे हैं. सबसे ख़ास बाते है कि इस पार्टी में सत्ताधारी दल के नेता भी मजे लूट रहे हैं. गया में एक ऐसा ही एक मामला सामने आया है. एक मुखिया और भाजपा (BJP Leader) के किसान प्रकोष्ठ के जिला उपाध्यक्ष समेत पांच लोगों को शराब की पार्टी करते पकड़ा गया, जिसके बाद सभी को जेल भेज दिया गया.

पंचायत चुनाव में जनता को शराब और पैसे का लालच कोई नहीं दे सके,इसको लेकर चुनाव आयोग और जिला प्रशासन मुस्तैद है फिर भी मुखिया जी बाज नहीं आ रहे.शराब की मांग पंचायत चुनाव में बहुत बढ़ गई है. खरीददार चुनाव लड़नेवाले प्रत्याशी हैं.पुलिस के अनुसार गया जिले के फतेहपुर थाना क्षेत्र में रविवार की रात गुप्त सूचना के आधार पर फतेहपुर थाना की पुलिस ने करियादपुर गांव में छापेमारी की. इस दौरान पुलिस ने मुखिया धर्मेंद्र कुमार, भाजपा किसान मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष धर्मजीत कुमार सिंह, सहित पांच लोगों को शराब का जाम छलकाते नशे की हालत में गिरफ्तार किया गया.

करियादपुर गांव में छापामारी के दौरान जगन्नाथपुर पंचायत के मुखिया धमेंद्र कुमार, दिलीप सिंह, अरविंद सिंह, अमरिक सिंह, और धर्मजीत कुमार सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.पुलिस ने इस मामले में फतेहपुर थाना कांड संख्या 316/2021 धारा 37(b)(c) बिहार मद्य निषेध संशोधित अधिनियम 2018 के तहत मामला दर्ज किया है. फतेहपुर थाना के थानाध्यक्ष मनोज राम ने बताया कि बीती रात करियादपुर गांव में शराब की पार्टी चल रही थी. इस दौरान गुप्त सूचना मिली और छापेमारी की गई छापेमारी के दौरान भाजपा के किसान प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष, मुखिया, सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है सभी को मेडिकल टेस्ट कराने के बाद जेल भेज दिया गया.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.