By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पूर्णिया जिले में एक ही सर्टिफिकेट पर कई शिक्षक थे बहाल, जांच के दौरान 162 शिक्षक धाराएं

- sponsored -

विभाग ने कार्रवाई करते हुए 162 शिक्षकों को बर्खास्त करने का निर्देश नियोजन इकाई को दे दिया. जबकि अन्य सैकड़ों फर्जी शिक्षकों की जांच जारी है. वहीं पहले ही 75 शिक्षकों ने हाई कोर्ट के निर्देश पर खुद त्याग पत्र दे दिया था.

-sponsored-

पूर्णिया जिले में एक ही सर्टिफिकेट पर कई शिक्षक थे बहाल, जांच के दौरान 162 शिक्षक धाराएं

सिटी पोस्ट लाईव : बिहार में शिक्षा व्यवस्था को लेकर बहुत बड़ा फार्जीवाड़ा सामने आया है. यह मामला पूर्णिया जिले से जुड़ा है. जहाँ एक ही सर्टीफिकेट पर कई शिक्षक नौकरी कर रहे थें. जब जांच की गई तो विभाग ने मामले को सही पाया. इसके बाद विभाग ने कार्रवाई करते हुए 162 शिक्षकों को बर्खास्त करने का निर्देश नियोजन इकाई को दे दिया. जबकि अन्य सैकड़ों फर्जी शिक्षकों की जांच जारी है. वहीं पहले ही 75 शिक्षकों ने हाई कोर्ट के निर्देश पर खुद त्याग पत्र दे दिया था.

इस मुद्दे पर जिला शिक्षा पदाधिकारी मिथलेश कुमार से बात की गई तो उन्होंने बताया कि डीपीओ चन्द्रशेखर प्रसाद शर्मा द्वारा पूर्णिया के बनमनखी और रुपौली प्रखंड में अभी जांच की गई है . शिक्षा विभाग और निगरानी द्वारा दी गई सीडी से मिलान कर जांच करने पर बनमनखी में 107 और रुपौली में अबतक 55 फर्जी शिक्षक पकड़े गए हैं. जांच में पाया गया है कि एक ही टीईटी प्रमाण-पत्र पर दो-तीन शिक्षक नौकरी कर रहे हैं. नियोजन ईकाई को इन शिक्षकों को बर्खास्त करने का पत्र भेजा दिया गया है.

Also Read

-sponsored-

इससे पहले हाई कोर्ट ने एक नियत समय सीमा तय कर खुद फर्जी शिक्षकों से त्यागपत्र देने के लिए कहा था. हाई कोर्ट ने कहा था की जो फर्जी शिक्षक स्वयं त्यागपत्र दे देंगे उनके खिलाफ कोई कारवाई नहीं की जाएगी .जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कहा की अभी जांच महज दो प्रखंडों में की गई है.अन्य प्रखंडों में भी जांच चल रही है. बिहार में शिक्षकों के फर्जीवाड़ा का यह पहला मामला नही है. कई बार पहले भी जांच में फर्जी शिक्षक पकडे गये हैं. लेकिन सबसे बड़ी आश्चर्य की बात यह है कि इतने के बाद भी जांच की गति बहुत धीमी है.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.