By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

गिरफ्तार हुआ बेगूसराय का नटवरलाल, नौकरी दिलाने के नाम पर करता था उगाही

- sponsored -

केंद्रीय चयन परिषद बोर्ड द्वारा सिपाही भर्ती के लिए ली जा रही लिखित परीक्षा, परिणाम से पहले ही सवालों के घेरे में आ चुकी है. हालांकि इस मामले में पुलिस ने साक्ष्य के साथ सूत्रधार दिनेश सहनी को बेगूसराय के नीमा चांदपुरा से गिरफ्तार कर लिया है.

Below Featured Image

-sponsored-

गिरफ्तार हुआ बेगूसराय का नटवरलाल, नौकरी दिलाने के नाम पर करता था उगाही

सिटी पोस्ट लाइव : केंद्रीय चयन परिषद बोर्ड द्वारा सिपाही भर्ती के लिए ली जा रही लिखित परीक्षा, परिणाम से पहले ही सवालों के घेरे में आ चुकी है. हालांकि इस मामले में पुलिस ने साक्ष्य के साथ सूत्रधार दिनेश सहनी को बेगूसराय के नीमा चांदपुरा से गिरफ्तार कर लिया है. दिनेश सहनी पर आरोप है की वह हाल में हो रही सिपाही भर्ती परीक्षा सहित कई प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल हो रहे छात्रों से नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी करता था, और बहुत बार यह फर्जी तरीके से नौकरी दिलाने में कामयाबी भी हासिल कर चुका है. हालांकि मामला संज्ञान में आने के बाद पुलिस इस पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है.

बेगूसराय का नटवरलाल दिनेश सहनी जिसने बेरोजगार युवकों के भावनाओं से खेलते हुए सैकड़ों बेरोजगारों को अपनी ठगी का शिकार बनाया है. इतना ही नहीं दिनेश सहनी कई बार फर्जी तरीके से नौकरी दिलाने में कामयाब भी हो चुका है. देखा जाए तो कुछ वर्ष पूर्व तक सब्जी बेचने वाला यह शख्स आज करोड़ों की संपत्ति का मालिक है. गौरतलब है कि केंद्रीय चयन परिषद बोर्ड द्वारा सिपाही भर्ती की परीक्षा के दौरान ही बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार को एक आवेदन पत्र हासिल हुआ था, जिसमें नीमा चांदपुरा निवासी दिनेश सहनी पर आरोप लगाते हुए कहा गया था कि कई छात्रों से इसने इस परीक्षा में सफलता के लिए लाखों रुपए की उगाही की है.

Also Read

-sponsored-

इसी सूचना के आलोक में एसपी अवकाश कुमार ने तत्काल एक टीम का गठन कर दिनेश सहनी के घर पर छापेमारी की और उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस की माने तो दिनेश सहनी के घर से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज प्राप्त हुए हैं. जिससे स्पष्ट प्रतीत होता है कि दिनेश साहनी अबतक नौकरी दिलाने के नाम पर दर्जनों लोगों को अपना शिकार बना चुका है और कई बार यह कामयाबी भी हासिल कर चुका है. फिलहाल पुलिस प्राप्त दस्तावेजों के आधार पर इस पूरे नेटवर्क का भंडाफोड़ करने में जुट चुकी है.

बेगूसराय से सुमित कुमार की रिपोर्ट

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.