By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहार में हो सकती है बीजापुर जैसी नक्सली वारदात, सुरक्षा बल के जवानों ने किया विफल

;

- sponsored -

बिहार में भी छत्तीसगढ़ के बीजापुर जैसी नक्सली वारदात को अंजाम दिया जा सकता था । लेकिन नक्सलियों के बड़े मंसूबे को कोबरा 207 और सीआरपीएफ 215 बटालियन के जवानों ने विफल कर दिया।जमुई में नक्सली बड़े वारदात को अंजाम देने के फिराक में थे।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार में भी छत्तीसगढ़ के बीजापुर जैसी नक्सली वारदात को अंजाम दिया जा सकता था । लेकिन नक्सलियों के बड़े मंसूबे को कोबरा 207 और सीआरपीएफ 215 बटालियन के जवानों ने विफल कर दिया।जमुई में नक्सली बड़े वारदात को अंजाम देने के फिराक में थे।

जिले के सदर अनुमंडल इलाके के लक्ष्मीपुर प्रखंड के जंगल से सर्च अभियान में कोबरा के जवानों ने भीम बांध जंगल के चोरमारा और भट्ठाकोल गांव के पास पहाड़ पर लगे 50 किलो का दो अलग-अलग आईईडी बम को बरामद किया है। बरामद आईईडी बम का वजन 30 किलो और 20 किलो बताया गया है। बम बरामद होने के बाद सुरक्षाबलों ने उसे जंगल में ही विस्फोट कर नष्ट कर दिया है।

बताया जा रहा है कि नक्सली जंगल में आईईडी बम को इसलिए लगा कर रखा था की सर्च अभियान के द्वारा पुलिस बलों को निशाना बनाया जा सके। नक्सलियों द्वारा सुरक्षाबलों को अंबुस में फंसा कर भारी नुकसान पहुंचाने की योजना पर कोबरा 207 बटालियन के जवानों ने पानी फेर दिया है।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए घटना से प्रेरित नक्सलियों ने जमुई और मुंगेर के सीमावर्ती इलाके के भीम बांध जंगल में भी सुरक्षा बलों को अंबुस जोन में फंसा कर आईईडी बम ब्लास्ट का नुकसान पहुंचाने की योजना थी।

जमुई एसपी प्रमोद कुमार मंडल ने बताया कि जंगल में सुरक्षा बलों को टारगेट बनाने के लिए नक्सलियों ने बम को प्लांट किया था। सूचना के बाद सर्च अभियान चलाकर बरामद कर उसे डिफ्यूज कर दिया गया है। नक्सलियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई जारी है। इस कार्यवाई में कोबरा 207 बटालियन के अलावा 215 बटालियन सीआरपीएफ एवं बरहट थाना पुलिस भी शामिल थी।

;

-sponsored-

Comments are closed.